केदारनाथ में खत्म किया गया वीआईपी कल्चर, सब के लिए होगी एक कतार

केदारनाथ ( nainilive.com desk) – केदारनाथ धाम की यात्रा पर आने वाले आम भक्तों के लिए यह अच्छी खबर है. इस साल से यहां वीआईपी कल्चर खत्म किया जा रहा है. मतलब, आम श्रद्धालु और वीआईपी श्रद्धालु एक ही लाइन में लगकर बाबा केदारनाथ के दर्शन करेंगे. अब भक्तों को घंटों तक लाइन में लगकर बाबा केदार के दर्शन का इंतजार नहीं करना पड़ेगा. दर्शन करने के लिए बाबा के दरबार पहुंचे भक्तों से किए जाने वाले भेदभाव को दूर किया जा रहा है. गरीब और अमीर श्रद्धालु अब एकसाथ बाबा के दर्शन कर सकेंगे. सभी को एक साथ लाइन में लगकर अपने नंबर का इंतजार करना होगा.

अब तक केदारनाथ के दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की दो तरह की लाइन होती थी. केदारनाथ मंदिर तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं को 18 किलोमीटर की दूरी पैदल और घोड़े-खच्चर से तय करनी पड़ती है. यह रास्त बहुत ही खतरनाक है. लेकिन, मंदिर के नजदीक पहुंचने पर श्रद्धालुओं की 2 लाइन लगी होती थी. एक लाइन आम श्रद्धालुओं के लिए होती थी, जबकि दूसरी लाइन वीआईपी श्रद्धालुओं के लिए होती थी. लेकिन, इस साल से वीआईपी कल्चर को खत्म कर दिया गया है. पहले वीआईपी श्रद्धालु हेलीकॉप्टर से पहुंचते थे और उन्हें तुरंत मंदिर के भीतर जाने की अनुमित मिल जाती थी. इसके अलावा जो श्रद्धालु पूजा की ज्यादा पर्ची कटाता था उसे भी तुरंत बाबा केदारनाथ के दर्शन कराए जाते थे. इस वीआईपी कल्चर का लोगों ने हमेशा विरोध किया. लेकिन, उनकी शिकायतों पर इस साल अमल किया गया.

29 अप्रैल को खुल रहा है मंदिर का कपाट

केदारनाथ मंदिर का कपाट इस साल 29 अप्रैल को खुल रहा है. इस साल श्रद्धालुओं के साथ किसी तरह का भेदभाव नहीं होगा. सभी यात्रियों को एक साथ एक जैसे दर्शन कराए जाएंगे. जो यात्री हेलीकॉप्टर से भी पहुंचेगा और बद्री-केदार मंदिर समिति की पर्ची कटाएगा, उसे भी बाबा के दर्शन के लिए लाइन में लगना पड़ेगा. केदारनाथ के पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद नारायण मीणा ने कहा कि भगवान के धाम में सब यात्री एक समान हैं. किसी भी यात्री के साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा. सभी यात्रियों को नियमों के मुताबिक ही बाबा केदार के दर्शन कराए जाएंगे. ऐसा होने से पुलिस और प्रशासन का पूरा नियंत्रण रहेगा.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*