मैं वही करता हूं जो मेरे सवा सौ करोड़ देशवासी चाहते हैं: पीएम मोदी

जोधपुर ( nainilive.com)- कांग्रेस के लोग मानकर चलते हैं कि राजनीति में कुछ करने की जरूरत नहीं है, जातियों के समीकरण बैठाकर, वोटों के ठेकेदारों को अपना पक्ष में कर लो. उक्त बातें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जोधपुर में आयोजित एक चुनावी सभा के दौरान कही. वे आज राजस्थान में चुनाव प्रचार के लिए जोधपुर पहुंचे. प्रधानमंत्री ने रावण का चबूतरा मैदान में चुनावी सभा को संबोधित किया.

इस सभा में मोदी ने हिंदुत्व, मंदिर निर्माण, पर्यटन और विकास समेत कई मुद्दों पर कांग्रेस को घेरा. इस चुनावी सभा में प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कांग्रेस पार्टी का विकास में विश्वास नहीं है. एक पीढ़ी के लोगों ने चार सालों तक राज किया है. उन्हें जवाब देना होगा. वो कह रहे हैं कि मोदी को हिंदुत्व का ज्ञान नहीं है, क्या राजस्थान इस मुद्दे पर वोट करेगा? मैं हिंदुत्व के ज्ञानी को पूछना चाहता हूं जब सरदार पटेल ने सोमनाथ पर फैसला लिया था तो उस वक्त के महारथी ने क्या किया था क्या वह देश नहीं जानता.

डॉ राजेंद्र प्रसाद की जयंती पर प्रधानमंत्री मोदी ने श्रद्धांजलि देते हुए इतिहास का जिक्र किया उन्होंने कहा, जब राजेंद्र सोमनाथ मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा के लिए जा रहे थे, तब आप के ( कांग्रेस) ही प्रधानमंत्री ने घोर विरोध किया था. हम सामान्य परिवार से आये हैं, हम किसी ज्ञान का दावा नहीं कर सकते हैं. मैं वही करता हूं जो मेरे सवा सौ करोड़ देशवासी चाहते हैं, मेरे रिमोट कंट्रोल हैं उन्हीं के हाथ में है.

कांग्रेस पर प्रहार करते हुए मोदी ने कहा, दिल्ली में जब आप की सरकार थी, आपकी माता जी ( सोनिया गांधी ) रिमोट कंट्रोल से सरकार चलाती थी “नामदार महोदय”. यूपीए की सरकार ने सुप्रीम कोर्ट ने लिखित में कहा है, भगवान राम का कोई ऐतिहासिक प्रमाण नहीं है, उन्होंने कहा, यह काल्पनिक पात्र है. अब मुझे पूछ रहे हैं, मोदी को हिंदू का ज्ञान है कि नहीं है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान की खूबियों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा, यहां के लोगों की मिठास के कारण कोई नाराज हो ही नहीं सकता, इस धरती पर बिच्छू को भी बिच्छू जी बोलते हैं. आज भी पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा मिल रहा है उसके लिए भैरव सिंह शेखावत को आज भी याद किया जाता है. यहां को लोगों की रोजी रोटी का सुनहरा अवसर पर्यटन है.

जोधपुर, उदयपुर, जैसलमेर, राजस्थान के महल हो, यह सब मोदी के आने के बाद बने हैं क्या. यह कांग्रेस के जमाने से थे इसके बाद भी पर्यटन क्यों नहीं बढ़ रहा था. मोदी ने पर्यावरण में मिले पुरस्कार का जिक्र करते हुए कहा, हमारे देश को चैंपियन ऑफ अर्थ का सम्मान मिला है. लोग कहते हैं यह मोदी को मिला है. लोगों को यह पता नहीं था ग्लोबल वार्मिंग क्या है तब विसनोई समाज ने बलिदान दिया है. आज भारत को जो चैंपियन ऑफ अर्थ का सम्मान मिला है वह बिश्नोई समाज जैसे देश के कोने में फैले लोगों की वजह से हुआ है.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*