शिवराज सरकार से राज्यमंत्री का दर्जा पाने वाले संत भैय्यूजी महाराज ने की खुदकुशी

इंदौर (Nainilive.com desk). आध्यात्मिक गुरु भैय्यू जी महाराज ने मंगलवार को खुद को गोली मार ली.  अभी तक घटना के कारणों का पता नहीं चल पाया है. घटना के फौरन बाद भय्यूजी को इंदौर के बॉम्बे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई. उन्होंने खुदकुशी क्यों कि इस बात की जांच की जा रही है. उनकी मौत से उनके भक्त और समर्थक गहरे सदमे में हैं.कुछ महीने पूर्व मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार ने भैय्यूजी महाराज समेत पांच संतों को राज्यमंत्री का दर्जा प्रदान किया था. हालांकि उन्होंने उसे ठुकरा दिया था.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक घटना महाराज के सिल्वर स्प्रिंग स्थित निवास पर हुई. घटना के समय वो कमरे में अकेले थे. आवाज सुनकर परिजन पहुचे और उन्हें बॉम्बे अस्पताल लेकर पहुँच गए.  गौरतलब है कि भय्यू महाराज को पिछले दिनों मध्यप्रदेश सरकार ने राज्यमंत्री का दर्जा भी दिया था. हालांकि उन्होंने उसे ठुकरा दिया था. भैय्यूजी महाराज का वास्तविक नाम उदयसिंह देखमुख है. उनका जन्म शुजालपुर के एक किसान परिवार में हुआ था. उनका मुख्य आश्रम इंदौर स्थित बापट चौराहे पर है.

सदगुरु दत्त धार्मिक ट्रस्ट उनके सानिध्य में संचालित होता है. कई राजनीतिक और फिल्मी हस्तियां उनके आश्रम में जा चुकी हैं.2012 सद्भावना उपवास के दौरान पीएम मोदी ने उन्हें गुजरात बुलाया था. वे चर्चा में तब आए जब अन्ना हजारे के अनशन को खत्म करवाने के लिए तत्कालीन केंद्र सरकार ने उन्हें अपना दूत बनाकर भेजा था. बाद में अन्ना ने उनके हाथ से जूस पीकर अनशन तोड़ा था. वे महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलास राव देशमुख के रिश्तेदार थे…

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*