समाज सेवा हेतु किये जाने वाले कार्य दिखावे के लिए न किये जाये- आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल राजीव रौतेला

नैनीताल (nainilive.com)-  नैनीताल शहर के प्राकृतिक सौन्दर्य को बरकरार रखने तथा झील के संरक्षण एवं विकास में जनता को जगरूक करते हुए जन सहभागिता बढ़ाने हेतु आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल राजीव रौतेला ने डीएसबी कैम्पस के प्रोफेसर, छात्रसंघ प्रतिनिधियों, नेहरू युवा केन्द्र के समन्वयकों व अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक आयुक्त कार्यालय में सम्पन्न हुई।
श्री रौतेला ने कहा कि झील को स्वच्छ बनाए रखने के लिए झील में मिलने वाले नालों को साफ व स्वच्छ बनायंे रखना प्राथमिक व अत्यन्त महत्वूर्ण है। श्री आयुक्त ने झील के आस-पास व शहर में वर्षाकाल के दौरान क्षतिग्रस्त नालों को चिन्हित करते हुए उनकी मरम्मत चरणबद्ध व समयबद्ध तरीके से करने के लिए विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों के लिए दिये। श्री रौतेला ने कहा कि समाज सेवा हेतु किये जाने वाले कार्य दिखावे के लिए न किये जाये।
उन्होंने कहा कि सरोवर नगरी को पर्यटन के क्षेत्र में और अधिक बुलन्दियों पर ले जाने के लिए बाहर से आने वाले पर्यटकों को अधिक से अधिक सुविधाएं दिये जाने का प्रयास करने की आवश्यकता है ताकि पर्यटकों को किसी भी प्रकार की  असुविधा या परेशानी न हो और वह अच्छी तरह से क्षेत्र का भ्रमण करने के साथ ही यहाॅ से अच्छी यादे लेकर व खुश होकर जाये। उन्होंने कहा कि नैनीताल में आबारा किस्म के व्यक्तियों पर पैनी नजर रखकर गलत कार्य करने वालों पर कड़ी कार्यवाही करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लड़कियों से छेड़छाड़ करने वाले, फब्तियाॅ कसने वाले, परेशान करने वालों के खिलाफ किसी भी प्रकार की रियायत की कोई गुंजाईश नहीं है और एसे व्यक्तियों पर पूरी नकेल लगाने की आवश्यकता है। उन्होने कहा कि शहर में घूम रहे नशेड़ियों व आबारा किस्म के लोगों पर भी नजर रखी जा रही है। उन्होंने झील एवं नगर के प्राकृतिक सौन्दर्य को बनाए रखने के लिए सभी से सहयोग की अपेक्षा करते हुए कहा कि जन सहभागिता के माध्यम से कोई भी लक्ष्य अल्प अवधि में पाया जा सकता है।
        बैठक में डीएसबी कैम्पस के प्रो0 ललित तिवारी, एन0सी0सी0 प्रो0एच0सी0बिष्ट, प्रो0 रीतेश शाह, छात्र संघ अध्यक्ष अभिषेक मेहरा, शीतल, जिला युवा नेहरू केन्द्र के जिला समन्वयक मुन्नी टोलिया, मोहित कुमार, कमल पाण्डे, आदि लोग उपस्थित थे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*