दुस्साहस : नैनीताल में हरे पेड़ों को अवैध तरीके से काट डाला , वन विभाग बना रहा मूक दर्शक

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com ) – नैनीताल में अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद हो चले हैं। ताजा वाक्या मल्लीताल के अयारपाटा क्षेत्र में हरे भरे पेड़ों के अवैध कटान का मामला सामने आया है। नैनीताल नगरपालिका के क्षेत्रीय सभासद एवं पर्यावरण के प्रति सजग रहने वाले पर्यावरणप्रेमी मनोज साह जगाती ने जब प्रातः सोशल मीडिया में घटना की सूचना दी , तो तहलका मच गया। लेकिन इतना सब कुछ हो जाने के बाद भी वनों की रक्षा करने का दावा करने वाला वन विभाग 9 बजे तक सोता रहा। किसी भी अधिकारी ने सूचना मिलने के तुरंत बाद घटना स्थल पर तुरंत पहुँचने की जेहमत नहीं उठायी। मामला जब सोशल मीडिया में उछलने लगा और स्थानीय जागरूक नागरिको के साथ सभासद मनोज साह जगाती ने कोई कार्यवाही नहीं होने पर आत्मदाह की चेतावनी दे दी , तब जाकर वन विभाग की टीम मौक़ा मुआयना करने पहुंची।

Ad

टीम के मौके पर पहुंचने के बाद भी शिकायतकर्ता सभासद मनोज साह जगाती से डीएफओ से उक्त प्रकरण की शिकायत करने को लेकर झड़प हो गयी। हालांकि बाद में डीएफओ ने उक्त प्रकरण को गंभीर मानते हुए वन क्षेत्राधिकारी नैनीताल प्रमोद तिवारी से जवाब तालाब कर लिया है , वहीँ वन बीट अधिकारी रणजीत थापा पर कठोर कार्यवाही करते हुए उन्हें कार्यालय से सम्बद्ध कर दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल जिले में बिजली चोरी के 1500 से मामले,114 पर FIR

गौरतलब है की घटना जहां पर घटित हुई है , वह स्थान मल्लीताल कोतवाली से चंद क़दमों की दूरी पर है। घटनास्थल अरोमा होटल के समीप स्थित है जहाँ बड़ी संख्या में पेड़ों पर आरी चला दी गयी है। क्षेत्रीय सभासद मनोज साह जगाती ने आरोप लगाते हुए कहा की बिना विभागीय मिली भगत के इतना दुस्साहस करना मुमकिन नहीं। एक तरफ जहाँ लोग वनों को बचाने और संरक्षित करने की मुहीम चला रहे हैं , वहीँ दूसरी तरफ विभागीय मिली भगत से अतिक्रमणकारी हरे भरे जंगलों को उजाड़ रहे हैं। उन्होंने 72 घंटे के भीतर आरोपियों को पकड़ कर दोषी व्यक्तियों एवं अधिकारियों व कर्मचारियों को दण्डित करने का आग्रह किया है।

यह भी पढ़ें 👉  बेरोजगार युवकों से दलाली करने वालों के विरुद्ध होगी कार्रवाई
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments