परियोजना ट्रैक पर, पहाड़ पर जल्द दौड़ेगी ट्रेन, मुख्यमंत्री ने किया ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना का स्थलीय निरीक्षण

पुष्कर सिंह धामी

पुष्कर सिंह धामी

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , देहरादून ( nainilive.com )- उत्तराखंड के दुर्गम पर्वतीय इलाकों में ट्रेन दौड़ाने का सपना साकार होने की तरफ बढ़ रहा है।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को उत्तराखंड की महत्वाकांक्षी ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना की समीक्षा की। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल और कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल के साथ योग नगरी ऋषिकेश रेलवे स्टेशन और गुल्लर डोगी, टिहरी में परियोजना के तहत बनाई जा रही टनल के स्थलीय निरीक्षण के दौरान निर्माणाधीन सुरंग के भीतर जाकर भी कार्यों का जायजा लिया।
मुख्यमंत्री ने योग नगरी ऋषिकेश रेलवे स्टेशन स्थित रेल विकास निगम के कार्यालय में समीक्षा के दौरान कहा कि चार धाम सड़क परियेजना के साथ ही ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियेजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उत्तराखंड को बड़ी देन है। वह समय दूर नहीं, जब पहाड़ में रेल का सपना पूरा होगा। इससे राज्य की आर्थिकी में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। परियोजना में डोईवाला गंगोत्री रेलमार्ग को ऋषिकेश से जोड़ा जाएगा। साथ ही ऋषिकेश में जीआरपी का मुख्यालय खोला जाएगा। आईडीपीएल की भूमि पर बसे कृष्णा नगर को वन विभाग की ओर से खाली कराने के मामले में मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा उद्देश्य विकास करना है।

12 स्टेशन और 17 टनल, लक्ष्य 2024
ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना के मुख्य परियोजना प्रबंधक हिमांशु बडोनी ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से बताया कि मार्च 2024 तक परियोजना को पूर्ण करने के लक्ष्य के साथ काम किया जा रहा है। अभी तक परियोजना में अपेक्षानुरूप गति से काम हुआ है। ऋषिकेश के बाद परियोजना मुख्यतः अंडरग्राउंड है। भूमि अधिग्रहण किया जा चुका है। इस रेल लाइन पर 12 स्टेशन और 17 टनल बनाए जा रहे हैं। काम निर्धारित समयावधि में पूरा किया जा सके, इसके लिए विभिन्न स्थानों पर एक साथ काम चल रहा है। एप्रोच मार्ग पहले ही बनाए जा रहे हैं। रेल परियोजना के निर्माण में राज्य सरकार का पूरा सहयोग मिल रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  किरायदार ने मकान मालिक पर लगाया नाबालिग से छेड़छाड़ व दुष्कर्म का आरोप

श्रीनगर में 52 बेड का अस्पताल
बडोनी ने बताया कि रेल विकास निगम द्वारा अनेक जनकल्याणकारी काम किए जा रहे हैं। श्रीनगर में 52 बेड का संयुक्त चिकित्सालय बनाया जा रहा है। ऑक्सीजन प्लांट भी बनाए गए हैं। रेल परियोजना की बेल्ट को हॉर्टीकल्चर और हनी बेल्ट के रूप में विकसित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसके लिए वृहद स्तर पर पौधरोपण भी किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊँ विश्वविद्यालय के सर जे० सी० बोस परिसर स्थित फार्मेसी विभाग में बी० फार्म पाठ्यक्रम में प्रवेश हेतु योग्यता सूचकांक जारी


रानीपोखरी पुल का जाना हाल
मुख्यमंत्री ने ऋषिकेश-देहरादून मार्ग पर रानीपोखरी पुल का औचक निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को तय समय सीमा के भीतर कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। मौके पर मौजूद स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की।

यह भी पढ़ें 👉  भारी बरसात के कारण प्याज की फसल में पैदा हुआ भयानक संक्रमण, किसानों की हालत खस्ता
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments