लद्दाख एवं जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र के तत्वावधान में देहरादून में आयोजित हुआ कार्यक्रम

Share this! (ख़बर साझा करें)

देहरादून ( nainilive. com ) – लद्दाख एवं जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र के तत्वावधान में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। उक्त कार्यक्रम में राज्य सभा सांसद नरेश बंसल, श्रीमान संजय , अध्ययन केंद्र के प्रांतीय संयोजक उत्तराखंड श्रीमान बलदेव पाराशर द्वारा संयुक्त रूप से द्वीप प्रज्ज्वलन कर किया गया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में श्रीमती निधि बहुगुणा द्वारा 22 फरवरी 1994,को भारतीय संसद में लिए गए संकल्प को पुनः स्मरण कराते हुए जम्मू कश्मीर व लद्दाख क्षेत्र पर पाकिस्तान व चीन का अनधिकृत कब्जे वाले क्षेत्र की वर्तमान स्थिति के बारे में विस्तार से बताया।

Ad

कार्यक्रम में आए विशेषज्ञ वक्ताओं में डॉ. सूरज पारचा द्वारा जम्मू कश्मीर व लद्दाख क्षेत्र के सांस्कृतिक, सामरिक व आर्थिक महत्व पर प्रकाश डाला एवं धारा 370 व 35 A के समाप्त होने के उपरांत जम्मू कश्मीर में आए हुए परिवर्तन से वहाँ की जनता को पुनः अधिकार संपन्न विषय पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊँ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ नैनीताल (कूटा) ने उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.धन सिंह रावत को विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए दिया ज्ञापन

अध्ययन केंद्र के प्रांतीय संयोजक श्रीमान बलदेव पाराशर द्वारा 22 फरवरी 1994 के भारतीय संसद द्वारा लिया गया संकल्प पत्र पढ़ कर सुनाया गया, तत्पश्चात माननीय सांसद जी को अध्ययन केंद्र की कार्यकारिणी द्वारा संकल्प स्मरण पत्र (Copy of Parliamentary Resolution dated 22 February 1994) की प्रतिलिपि सौंपी ।

यह भी पढ़ें 👉  कल आयोजित होगा कुमाऊं विश्वविद्यालय का सत्रहवाँ दीक्षांत समारोह , कुलपति प्रो एन के जोशी ने लिया व्यवस्थाओं का जायजा

उसके उपरांत सांसद नरेश बंसल द्वारा अपने संबोधन में पूरे कश्मीर को भारत के अभिन्न अंग मानते हुए बड़ी दृढ़ता एवं अपनी प्रबल इच्छाशक्ति दिखाते हुए इस विषय पर प्रदेश के अन्य सांसदों के साथ मिलकर संसद में पुनः इस विषय पर चर्चा कराने का आश्वासन दिया एवं उन्होंने अध्ययन केंद्र से अपेक्षा करते हुए कहा कि जो भी शोध कार्य एवं जम्मू कश्मीर व लद्दाख क्षेत्र की वास्तविक स्थिति से उनको समय समय पर अवगत कराने का आग्रह किया ताकि वह राज्य सभा में इन विषय को संसद में अपेक्षित संशोधन के साथ प्रबलता से उठाए । कार्यक्रम में दून यूनिवर्सिटी के डॉ एच सी पुरोहित द्वारा इस विषय पर युवाओं से आवाह्न करते हुए अकाडेमिक राइटिंग व शोध कार्य करने की आवश्यकता पर जोर दिया। उक्त कार्यक्रम का संचालन डॉ दिनेश उपमान्य द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  मानसखण्ड कॉरिडोर कुमाऊॅ को गढ़वाल से जोड़ने वाले सम्पर्क एवं पृथक मार्गो के निर्माण को लेकर सरकारी स्तर पर तेज हुई कवायद

कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्री राजेश सेठी, श्री विशाल शर्मा, श्री अरुण शर्मा, डॉ नरेंद्र रावल, सरदार तनवीर सिंह, श्री लक्ष्मी जैसवाल आदि उपस्थित रहे।

Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments