अजय भट्ट ने ली केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में शपथ , देखें वीडियो में

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

अंचल पंत , नैनीताल ( nainilive.com )- उत्तराखंड से नरेंद्र मोदी ने अपने कैबिनेट विस्तार में नैनीताल सांसद अजय भट्ट को केंद्रीय राज्य मंत्री के रूप में शामिल किया है। 1 मई 1961 को रानीखेत में स्व कमलापति भट्ट के घर जन्मे अजय भट्ट ने अल्मोड़ा से बीए एलएलबी की शिक्षा ग्रहण की है। वर्ष 1980 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के सक्रीय कार्यकर्ता के रूप में उन्होंने अपने राजनैतिक जीवन की शुरुआत की , जिसके बाद वर्ष 1985 में भाजयुमो उत्तरप्रदेश की कार्यसमिति के सदस्य के रूप में रहे। उसके बाद संगठन में विभिन्न दायित्वों में रहते हुए उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। उनकी संगठनात्मक शैली को देखते हुए उन्हें 2 बार अल्मोड़ा पिथौरागढ़ संसदीय सीट का संयोजक बनाया गया। भाजपा प्रदेश मंत्री , प्रदेश महामंत्री से होते हुए उन्होंने उत्तराखंड भाजपा को संगठनात्मक एवं चुनावी विजय दिलाने में अथक मेहनत एवं प्रयास किये।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल जिले के 110 शिक्षक बने प्रधानाध्यापक

1996 में प्रथम बार उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए रानीखेत विधानसभा सीट से निर्वाचित हुए , तो इसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। उनके सौम्य व्यवहार , कार्यकर्ताओं को साथ लेकर चलने एवं कुशल नेतृत्व का ही कौशल रहा , की वह 2002 – 2007 एवं 2012 -2017 तक उत्तराखंड विधानसभा में रानीखेत सीट को प्रतिनिधित्व तो किया ही , साथ ही वर्ष 2002 में स्वास्थय, आबकारी एवं विधायी एवं संसदीय कार्य , आपदा प्रबंधन , बाल विकास मंत्री जैसे अहम् मंत्रालय में अपनी योग्यता एवं ईमानदारी को भी सिद्ध किया और 2012 से 2017 तक नेता प्रतिपक्ष के रूप में विपक्ष की अहम् भूमिका भी अदा की। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में नैनीताल उधमसिंह नगर संसदीय सीट से उन्होंने कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को 339096 वोटों के भारी अंतर से हरा कर जीत हासिल की।

यह भी पढ़ें 👉  कवि नीरज की स्मृति में उत्तराखंड काव्य महोत्सव का आयोजन, देशभर से जुटे साहित्यकार

काफी संघर्षपूर्ण रहा है उनका जीवन

अजय भट्ट का जीवन एक योद्धा की तरह काफी संघर्षपूर्ण रहा है। जब वह छोटे थे , तभी उनके पिता का साया उनके ऊपर से उठ गया था। इसके कुछ समय बाद ही उनके 2 अन्य भाइयों का भी निधन हो गया था। इस कठिन दौर में भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और अपने बड़े भाई के साथ परिवार की जिम्मेदारी में ली। परिवार में आर्थिक संकट उत्पन्न होने के कारण बहुत काम उम्र में ही उन्हें रोजगार के अवसर तलाशने पड़े , जिसके बाद उन्होंने एक छोटी सब्जी की दूकान खोल परिवार का भरण पोषण एवं पालन किया। भी उन्होंने कभी बिंदी चूड़ी की दूकान लगाईं तो कभी चाय बेचकर अपनी उच्च शिक्षा पूरी की और परिवार को भी स्थापित किया। वर्ष 1986 में उन्होंने पुष्पा भट्ट से शादी की , जो पेशे से अधिवक्ता हैं और वर्तमान में उत्तराखंड उच्च न्यायलय में उप महाधिवक्ता के पद पर कार्यरत हैं। इनके परिवार में 3 बेटियां एवं 1 बेटा हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: रानीखेत एक्सप्रेस का संचालन रहेगा जारी, पढ़िए पूरी खबर
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments