हल्द्वानी : कैटरिंग कारोबारी सोनू के हत्यारोपी को भेजा जेल

हल्द्वानी : कैटरिंग कारोबारी सोनू के हत्यारोपी को भेजा जेल

हल्द्वानी : कैटरिंग कारोबारी सोनू के हत्यारोपी को भेजा जेल

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , हल्द्वानी ( nainilive.com )- कैटिरिंग कारोबारी सोनू की गला घोंटकर हत्या करने के आरोपी के जुल्म कबूलने के बाद पुलिस ने उसे न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। बता दें कि उजाला नगर निवासी कैटरिंग कारोबारी 38 वर्षीय सोनू गुप्ता पुत्र स्व. तेज पाल की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। उसका शव रविवार की प्रातः बरेली रोड स्थित दानिश के बगीचे में पड़ा मिला था। पुलिस की पूछताछ में ही मृतक के परिवारजन एक-दूसरे पर ही आरोप-प्रत्यारोप लगाने लगे। मृतक की पत्नी रजनी ने अपने जेठ सर्वेश व उसके साले विकास पर हत्या का आरोप लगाया। जबकि मृतक की मां ने अपनी बहू के चाल-चलन पर सवाल खड़े किए और हत्या का शक जाहिर किया। जिसके चलते पुलिस प्रथम दृष्टया पारिवारिक कलह को ही हत्या की वजह मान रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  बिजली कर्मचारियों का तीन दिवसीय पेन डाउन प्रर्दशन शुरू

मामले में जानकारी देते हुए एसपी सिटी डॉ जगदीश चन्द्र ने बताया कि मृतक की पत्नी के प्रेम प्रसंग को भी क्लू बनाया गया। इस दिशा में जांच आगे बढ़ाई गई और रजनी के प्रेमी सोनू सैनी पुत्र चौखे लाल मूल निवासी छितौनी रोड गांव सैफनी तहसील शाहबाद थाना सैफनी जिला रामपुर व हाल निवासी सती कालोनी से पूछताछ शुरू कर दी गई। पहले तो वह पुलिस को गुमराह करता रहा। लेकिन सख्ती बरतने पर वह टूट गया। आरोपी ने पुलिस को बताया कि शनिवार की रात शराब के नशे में सोनू गुप्ता ने उसे पत्नी से दूर न होने से जान से मारने की धमकी दी। इसे लेकर विवाद बढ़ गया। विवाद की सूचना आरोपी ने अपने साथियों नन्नू उर्फ नन्हे अंसारी और कुवंर सैन को दूरभाश पर दी। इस बीच बात बढ़ने पर आरोपी ने अंगोछे से सोनू गुप्ता का गला घोंट दिया। इस बीच आरोपी ने मौके पर पहुंचे अपने दोस्तों को भी साथ देने के लिए मना लिया और इसकी जानकारी किसी को न देने की बात कही।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष कौशिक, कांग्रेस और आप को लेकर दिया ये बड़ा बयान

पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त अंगोछा बरामद कर लिया है। आरोपी को कार्यवाही के बाद न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है। खुलासे के दौरान पुलिस क्षेत्राधिकारी शांतनु पारासर भी मौजूद रहे। जबकि सफलता प्राप्त करने वाली टीम में एसओजी प्रभारी सुधीर कुमार, बनभूलपुरा थानाध्यक्ष प्रमोद पाठक, एसआई दान सिंह मेहता, बलवन्त सिंह कम्बोज, कुमकुम धानिक, कांस्टेबल अमनदीप सिंह, संजय साहनी, विरेन्द्र सिंह रावत शामिल रहे।

आखिर आरोपी के साथियों को क्यों बचा रही पुलिस?
कैटरिंग कारोबारी हत्याकांड के खुलासे में पुलिस की कहानी में झोल नजर आ रहा है। पुलिस ने इस मामले में सोनू सैनी को तो गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन पुलिस उसके साथियों को बचाने का प्रयास कर रही है। जबकि उसके दोनों साथियों को घटना के दौरान ही हत्याकांड की जानकारी हो गई थी। बावजूद इसके पुलिस दोनों को बचाने का प्रयास कर रही है।

पुलिस के सत्यापन अभियान की फिर निकली हवा
नगर में रहने वाले बाहरी लोगों का पुलिस शत-प्रतिशत सत्यापन करने का दावा करती रहती है। इसके लिए पुलिस समय-समय पर अभियान भी चलाती है। बावजूद इसके हत्यारोपी सोनू सैनी का पुलिस सत्यापन नहीं किया गया था। आरोपी यहां किराये के मकान में बिना सत्यापन के रह रहा था। लेकिन पुलिस ने सत्यापन कराने की सुध नहीं ली।

यह भी पढ़ें 👉  सतर्कता : नैनीताल जिले में भी स्कूलों के बच्चों की कोरोना जांच बढ़ाई
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments