बड़ी खबर : उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने की इस्तीफे की पेशकश , राज्यपाल से माँगा समय

तीरथ सरकार ने पत्रकारों के हित में लिया यह बड़ा फैसला

तीरथ सरकार ने पत्रकारों के हित में लिया यह बड़ा फैसला

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- उत्तराखंड में राजनीतिक बदलाव की बड़ी खबर सामने आ रही है। सूबे में एक बार फिर सियासी परिवर्तन की आहट सुनाई देने लगी है। सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है की उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफे के पेशकश करि है। ऐसा कदम इसलिए उठाया जा रहा है क्योंकि राज्य में विधानसभा उपचुनाव को लेकर एक बड़ा पेंच फंस गया है। सूबे में कोई बड़ा राजनैतिक संकट न खड़ा हो , इसको लेकर यह कदम उठाया जा रहा है। ऐसी खबर आ रही है कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अपना इस्तीफा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा को सौंप दिया है और साथ ही उत्तराखंड की राज्यपाल से मिलने का समय माँगा है।

यह भी पढ़ें 👉  आखिकार राज कुंद्रा को मिली जमानत...बिजनेसमैन की आंखों में दिखे आंसू

क्यों आ रही इस्तीफे की जरुरत ?

दरअसल उत्तराखंड में गंगोत्री और हल्द्वानी विधानसभा की सीटें विधायकों की मौत की वजह से खाली हो गयी हैं । वहीँ मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल भी मार्च 2022 में खत्म हो रहा है , जिसका अर्थ यह है कि इस विधानसभा का कार्यकाल पूरा होने में सिर्फ 9 महीने ही बचे हैं। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बीते दस मार्च को सीएम पद की शपथ ली थी, ऐसे में उन्हें शपथ लेने के छह माह के भीतर विधायक बनना जरूरी है। इस आधार पर उन्हें 9 सितंबर के बाद मुख्यमंत्री पद पर बने रहना संभव नहीं है। इसके साथ ही जनप्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 151 ए के तहत किसी भी विधानसभा में उस स्थिति में उप-चुनाव नहीं कराया जा सकता है , जहां की विधानसभा में आम चुनाव के लिए केवल एक साल बचा हो। इस आधार पर तीरथ सिंह रावत का गंगोत्री विधानसभा से चुनाव लड़ना मुश्किल ही लग रहा है। साथ ही निर्वाचन आयोग ने भी कोवीड काल में चुनाव कराने में अपनी असमर्थता जता दी है। तीरथ सिंह रावत को मुख्यमंत्री बने रहने के लिए निश्चित समयावधि में विधानसभा का उपचुनाव लड़ना और जीतना जरूरी है , लेकिन ताजा हालातों में ऐसा होना संभव नहीं है। इसलिए कोई संवैधानिक संकट न पैदा हो , इसलिए इस्तीफे की पेशकश की जा रही है। फिलहाल मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने राज्यपाल से समय माँगा है , लेकिन उनके नैनीताल में होने के कारण कल शनिवार को मिलना संभव हो पायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  भारी बरसात के कारण प्याज की फसल में पैदा हुआ भयानक संक्रमण, किसानों की हालत खस्ता
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments