ऑनलाइन गेमिंग एक्ट लेकर आने की तैयारी कर रही है शिवराज सरकार, गृह मंत्री ने कहा ड्राफ्ट तैयार

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क (nainilive.com) – मध्य प्रदेश में ऑनलाइन गेमिंग (online gaming) के चक्कर में बहुत से युवा और बच्चों की जान चली गई है. इस बात को ध्यान में रखते हुए सरकार ऑनलाइन गेमिंग पर नियंत्रण के लिए जल्द ही एक्ट लाने जा रही है. गृह मंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा की मानें तो राज्य सरकार ने इसका ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया है. इससे ऑनलाइन गेमिंग से जुड़ी गतिविधियों को नियंत्रित किया जाएगा. कानून अमल में आने पर ऑनलाइन गेमिंग संचालित करने वाली कंपनियों पर शिकंजा कसा जा सकेगा. साथ ही बिना अनुमति इस तरह की गतिविधियां संचालित करने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्रवाई की जा सकेगी.

Ad

दरअसल, फ्री फायर जैसे ऑनलाइन गेम की वजह से कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं. बुधवार को भी राजधानी में पांचवीं क्लास के छात्र सुर्यांश ने इस गेम के कारण फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. सूर्यांश फ्री फायर गेम खेलने का शौकीन था. गृह मंत्री ने कहा कि यह गंभीर विषय है. इस तरह के गेम से दुखद घटनाएं सामने आ रही है. इस तरह ही घटनाओं को रोकने के लिए कानून जल्द लागू किया जाएगा.

पेरेंट्स ने पुलिस को बताया कि मोबाइल के अलावा टीवी में भी वो गेम खेलता था. गेम का बेटे पर इस कदर जुनून सवार था कि उसने गेम फाइटर की ड्रेस भी खुद ही ऑनलाइन मंगाई थी. बता दें कि करीब 3 महीने पहले भी सूर्यांश ने सुसाइड करने की कोशिश की थी, लेकिन उस समय उसे मां ने बचा लिया था.

उज्जैन के जीवाजीगंज थाना क्षेत्र में रहने वाले एक किशोर ने मोबाइल गेम में डेढ़ हजार रुपये खर्च होने पर खुद के अपहरण की झूठी कहानी रच डाली थी. डेढ़ हजार रुपये खर्च होने पर माता-पिता की डांट से वो घर छोड़कर इंदौर चला गया था. ऐसे ही एक मामला सामने आया था. देवास में मोबाइल पर गेम खेलते हुए 11वीं के एक छात्र की मौत का हो गई थी. गेम खेलते-खेलते वो बिस्तर पर गिर गया था और जब परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे तो डाक्टरों ने छात्र को मृत घोषित कर दिया था.

Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments