बागेश्वर में बारिश से मकान हुआ जमींदोज, तीन लोगों की मौत

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , बागेश्वर ( nainilive.com )- कपकोट के सुमगढ़ गांव के ऐठान तोक में रविवार की सुबह बरसात एक परिवार के लिए मौत बनकर आई। बरसात से आए मलबे से गोविंद सिंह का मकान जमींदोज हो गया। जिससे घर में सो रहे तीन सदस्यों को मौत हो गई जबकि गोविंद सिंह के बड़े पुत्र ने किसी तरह भाग कर जान बचाई। हादसे में गौशाला में बंधे पशु भी मलबे की भेंट चढ़ गए।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में भारी बारिश , डीएसबी के केपी गर्ल्स हॉस्टल में हुआ भारी भूस्खलन


आपदा कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार कपकोट के सुमगढ़ गांव में शनिवार की रात तेज बरसात हुई। जिससे रविवार की सुबह लगभग तीन बजे पास की पहाड़ी से आया मलबा सुमगढ़ के ऐठान तोक निवासी गोविंद सिंह के मकान में घुस गया जिससे पूरा मकान जमींदोज हो गया। इस घटना में गोविंद सिंह (38) पुत्र प्रताप सिंह, पत्नी खष्टी देवी (32) व सात वर्षीय पुत्र हिमांशु मलबे में दब गए। जबकि 13 वर्षीय पुत्र गुलशन ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई और ग्रामीणों को सूचना दी। ग्रामीण खुद राहत कार्य में जुट गए किंतु काफी मलबे व अंधकार के कारण असफल रहे। गांव में फोन नेटवर्क न होने के कारण प्रशासन को इसकी सूचना सुबह ही दी जा सकी। सुबह साढे़ छह बजे सूचना मिलने पर कपकोट से एसडीआरएफ व प्रशासन तथा पुलिस की टीम घटना स्थल को रवाना हुई। इस बीच कपकोट-बघर मोटर मार्ग के क्षतिग्रस्त होने के कारण राहत व बचाव दल को लगभग पांच किमी पैदल चलना पड़ा।

जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि अपर जिलाधिकारी चंद्र सिंह इमलाल, उप जिलाधिकारी कपकोट प्रमोद कुमार भी घटनास्थल पहुंच चुके हैं। प्रशासन के निर्देश पर तीनों मृतकों का पोस्टमॉर्टम गांव के श्मशान घाट में किया जाएगा जिसके लिए चिकित्सकों की टीम भी वहां पहुंच गई है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में आयी आपदा में देवदूत बनकर मदद के लिए सामने आयी भारतीय सेना की डोगरा रेजिमेंट
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments