कम हो रहा कोरोना संक्रमण तो, अस्पतालों में बढ़ रहे वायरल फीवर के मरीज

Share this! (ख़बर साझा करें)

-एसटीएच में 30 फीसदी मरीज वायरल फीवर से ग्रसित

न्यूज़ डेस्क , हल्द्वानी ( nainilive.com )- कोरोना संक्रमण की दरों में कमी के बाद अब अस्पतालों में अब वायरल फीवर के मरीज बढ़ रहे हैं। एसटीएच में मंगलवार को 30 फीसदी मरीज वायरल फीवर से ग्रसित मिले। इसमें बच्चों और बुजुर्गों में वायरल फीवर के मरीज ज्यादा देखने को मिल रहे हैं। बदलते मौसम के कारण बुखार व जुकाम का खतरा बढ़ गया है। पिछले दिनों मौसम में हुए बदलाव की वजह से वायरल फीवर के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं। इसमें सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में वायरल के मरीज ओपीडी में अधिक पहुंच रहे हैं। इसमें खरास, खांसी, जुकाम व बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ गयी है। बदलते मौसम में खतरा और अधिक बढ़ रहा है। डॉक्टरों का कहना कि वायरल होने पर बिना डॉक्टरी जांच के दवाई लेना हॉनिकारक हो सकता है। डॉक्टरों की मानें तो ऐसे मौसम में हवा और पानी में बदलाव होता है, इससे संक्रमण का खतरा और बढ़ जाता है। बिना डॉक्टरी सलाह के मरीज को कोई भी दवाई नहीं लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ी आर्मी ने किया विरोध प्रदर्शन फूंका मुख्यमंत्री का पुतला

एसटीएच में पहुंच रहे 625 मरीज
मंगलवार को सुशीला तिवारी अस्पताल में 625 मरीज ओपीडी में पहुंचे। इसमें वायरस फीवर के कुल 190 मरीज ओपीडी में पहुंचे। इसमें जनरल मेडिसन में 158 और बाल रोग विभाग में 32 बच्चे वायरल फीवर से ग्रसित मिले।
इसमें सर्दी-जुकाम, खांसी बुखार के मरीज ज्यादा है। मौसम में बदलाव की वजह से वायरल के मरीज बढ़ जाते हैं। इसमें मरीजों में बुखार के साथ हल्की खांसी, जुकाम व बुखार की दिक्कत हो रही है।-डॉ. परमजीत सिंह, फीजिशियन एसटीएच

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं विश्विविद्यालय शिक्षक संघ कूटा की मांग पर मुख्यमंत्री धामी ने लगाई मुहर

बदलते मौसम में विशेष कर होटलों के खाने का परहेज करने चाहिए, साथ ही पानी उबाल कर पीना चाहिए। बदलते मौसम में बच्चों और बुजुर्गों में वायरल का खतरा बढ़ जाता है।– डॉ. नीरज त्रिपाठी, बाल रोग विशेषज्ञ, बेस अस्पताल

यह भी पढ़ें 👉  बाइक सवार युवक को सारे आम पीटा, पुलिस से की कार्रवाई की मांग

खान पान के साथ बरते ये सावधानी

डॉक्टरों के अनुसार बरसात के मौसम लोगों को ज्यादा सचेत रहने की आवश्यकता होती है। इसमें खान पान के साथ अन्य सावधानियां भी बरतनी पड़ती है। पानी उबाल कर पीएं। ताजा भोजन और हल्का भोजन लें। बाजारों व होटलों के खाने का परहेज करें। गंदगी से दूर रहें।बारिश और धूप से बचें। वायरल फीवर से पीड़ित मरीज से दूर रहें, जिससे संक्रमण फैलने खतरा कम बना रहे। वायरल फीवर में आराम करें।वायरल फीवर के लक्षण होने पर तुरंत डॉक्टरी सलाह ले, और बिना डॉक्टरी सलाह के कोई भी दवाई ना लें।

नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments