विवाह के पहले सीजन पर कोरोना की मार

Share this! (ख़बर साझा करें)

हल्द्वानी ( nainilive.com )- कोरोना का असर होने की वजह से सरकार ने मेहमानों की संख्या घटाकर 100 कर दी है, जिसकी वजह से जनवरी व फरवरी में होने वाले वैवाहिक समारोहों में लोगों के उत्साह में कमी आई है। सबसे अच्छे संकेत दूसरे वैवाहिक सीजन यानी अप्रैल, मई व जून में होने वाले हैं। इस दौरान सबसे ज्यादा शुभ मुहूर्त रहेंगे और संभावना है कि कोरोना का असर मई और जून में कम हो जाएगा।
ज्योतिषाचार्य नवीन चंद्र जोशी ने बताया कि बसंत पंचमी, अक्षय तृतीया, बुद्ध पूर्णिमा, देवउठनी अबूझ मुहूर्त को मिलाकर शादियों के लिए कुल 52 दिन शुभ रहेंगे। इस साल जनवरी में तीन और फरवरी में आठ विवाह मुहूर्त रहेंगे, फिर अप्रैल में छह दिन शादियां हो पाएंगी।

Ad

वहीं सबसे ज्यादा विवाह मुहूर्त मई में 15 और जून में 12 दिन रहेंगे। इसके बाद जुलाई में पांच दिन और नवंबर में चार दिन और दिसंबर में सात विवाह मुहूर्त रहेंगे। पंडित नवीन चंद्र जोशी ने बताया कि इस साल शुक्र दो बार अस्त हो रहा है। पहला जनवरी में खरमास के समय और दूसरी बार अक्टूबर-नवंबर में चातुर्मास के दौरान। इस तरह साल में कुल 55 दिन तक शुक्र अस्त रहेगा, लेकिन 23 फरवरी से 27 मार्च तक गुरु ग्रह के अस्त होने की वजह से इन दिनों होने वाले विवाह मुहूर्त पर असर पड़ेगा। इस बार बसंत पंचमी पर शुक्र और गुरु ग्रह उदय रहने से विवाह मुहूर्त में रुकावट नहीं होंगी।

यह भी पढ़ें 👉  मानसखण्ड कॉरिडोर कुमाऊॅ को गढ़वाल से जोड़ने वाले सम्पर्क एवं पृथक मार्गो के निर्माण को लेकर सरकारी स्तर पर तेज हुई कवायद
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments