समाज कुटुंब के आधार पर चलता है -डॉ मोहन भागवत

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जी इन दिनों उत्तराखंड के दौरे में हल्द्वानी पहुचे है। परिवार प्रबोधन के एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने आम्रपाली संस्थान में भाग लिया और इस दौरान संघ से जुड़े हुए 1000 परिवार कार्यक्रम में उपस्थित हुए। यहां आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने कुटुंब प्रबोधन पर बोलते हुए कुटुंब के लिए 6 मंत्र दिए और उन्होंने भाषा, भोजन, भजन, भ्रमण, भूषा और भवन के जरिये अपनी जड़ों से जुड़े रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा समाज कुटुंब के आधार पर चलता है। एक दूसरे की निर्भरता को मानकर चलेंगे तो समाज ठीक चलेगा। समाज में किसके साथ क्या व्यवहार करना है यह कुटुंब सिखाता है। जैसे घर में हमारी माता है वैसे ही ये सृष्टि भी हमारी माता है। पहले प्रतिष्ठा कमाने की नही बांटने की थी, हमको पूरी तरह मानवता के साथ रहना है, परिवार एक घर का समूह नही है।

यह भी पढ़ें 👉  आपदा में हुए नुकसान का जायजा लेने हल्द्वानी पहुंचे डीजीपी


मानवता निभाना परिवार का अहम हिस्सा है


हमारा कुटुंब स्वार्थ से बंधा नही है कुटुंब हमारा आर्थिक सहयोगी है। बच्चों को बाहर जाने से न रोके बल्कि उसे वहां कैसे रहना है ,आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का उदबोधन भारत मे जो ड्रग्स आता है उसका सूत्रधार कौन है हम अपने को समाज, राष्ट्र समर्पित कुटुंब की तरह बनाएं धर्म वही है जो सारी पूजा को अपने में समा लेता है। घर की चौखट के अंदर अपनी भाषा बोली जाये साथ ही हमें अपने त्योहारों में अपनी परंपरागत वेशभूषा में रहना चाहिये। अपनी अच्छे बातों को रखने का बल प्राप्त करें। जिस दिन समाज ऐसा बनेगा सोया राष्ट्र जागेगा , जिस दिन राष्ट्र जागेगा पूरा विश्व जागेगा भारत विश्व गुरु बनेगा।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत जी ने कहा 800 प्रकार का भारतीय भोजन है। उत्तराखंड के भोज्य पदार्थ स्वादिष्ट एवं पौष्टिक हैं हमे अपने आहार में उन्हें शामिल और प्रयोग करना चाहिए। जितना देशाटन करेंगे उतनी चतुराई प्राप्त होगी , अपने तीर्थस्थलों का भ्रमण जरूर करें। घर के सभी सदस्य इकट्ठे होकर भजन औऱ भोजन करें। हमारी धार्मिक परंपरा क्या है इसकी जानकारी लें , नशा आज युवा पीढ़ी को बर्बाद कर रहा है। पर्यावरण संरक्षण को लेकर उन्होंने कहा की हर परिवार में हरियाली का विशेष स्थान होना चाहिए और हर परिवार एक पौधा अवश्य लगाए। उन्होंने छुआछूत जैसी दकियानूसी और छोटी सोच से दूर रहने का भी आह्वान किया।

इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरुआत में आम्रपाली संस्थान में आयोजित कार्यक्रम में आरएसएस सर संघचालक डॉ मोहन भागवत, क्षेत्र संघचालक सूर्य प्रकाश टोंक , प्रांत संघचालक डॉ. राकेश भट्ट , विभाग संघचालक डॉ. राम उजागर, जिला संचालक डॉ. नीलांबर भट्ट, नगर संचालक विवेक कश्यप ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम में सर संघचालक डॉ भगवत का बौद्धिक उद्बोधन सुनने के लिए ढाई हजार परिवारों के लोग पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें 👉  रक्षा एवं पर्यटन केन्द्रीय राज्य मंत्री अजय भट्ट ने रविवार को जनपद के आपदा प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments