देवर्षि नारद जी की जयंती पर नैनीताल में आयोजित हुआ कार्यक्रम

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- देवर्षि नारद जी की जयंती के अवसर पर नैनीताल नगर में नारद जयंती समारोह का आयोजन नारद जयन्त्ती आयोजन समिति नैनीताल के द्वारा किया गया। कार्यक्रम के मुख्या अतिथि आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट ऑफ़ ऑब्ज़र्वेशनल साइंसेज ( एरीज ) ARIES के वरिष्ठ खगोल वैज्ञानिक डॉ शशि भूषण पांडेय रहे , जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तराखंड उच्च न्यायालय में अपर महाधिवक्ता मोहन चंद्र पांडेय ने की।

Ad

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए दैनिक जागरण के ब्यूरो प्रमुख एवं वरिष्ठ पत्रकार किशोर जोशी ने देवर्षि नारद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा की वह बिना किसी पूर्वाग्रहों के देवों एवं दानवों दोनों का मार्गदर्शन करते थे , जबकि आज पत्रकारों का एक बड़ा वर्ग पूर्वाग्रहों से ग्रस्त लगता है। उन्होंने डिजिटल मीडिया के वर्तमान दौर का जिक्र करते हुए कहा की डिजिटल मीडिया में वर्णन ( narrative ) बनाने का भी दौर चला है , जबकि 2014 से लिबरल पत्रकारिता का दौर भी उत्पन्न हुआ है।

कुमाऊं विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो गिरीश रंजन तिवारी ने कार्यक्रम में बोलते हुए कहा की आदि पत्रकार के रूप में नारद जी का सम्मान है। वह सभी दुखी जान का मान रखते हुए सही बात को उचित मंच तक पहुंचाते थे। निष्पक्ष रूप से कार्य करने के लिए नारद जी का जीवन प्रेरणा स्त्रोत है। वहीँ वरिष्ठ पत्रकार डॉ नवीन जोशी ने कहा की देवऋषि नारद का पात्र हास्य के रूप में प्रकट किया जाता है। विराट चरित्र के धनि देवर्षि नारद जी से पत्रकारों को जोड़ने से पहले समाज में देवर्षि नारद के प्रति समाज में धारणा बदले जाने की जरुरत है। उन्होंने पत्रकारों के जीवन में घिरी समस्याओं की तरफ भी प्रकाश डालते हुए चुनौतियों के साथ कार्य करते जाने की प्रतिबद्धता को दोहराया।

image description

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट ऑफ़ ऑब्ज़र्वेशनल साइंसेज ( एरीज ) के वरिष्ठ खगोल वैज्ञानिक डॉ शशि भूषण पांडेय ने देवर्षि नारद जी के जीवन का सजीव चित्रण कर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। उन्होंने कहा कि नारद जी का अवतरण ब्रह्मा के मानस पुत्र के रूप में हुआ। वैदिक काल में सामवेद एवं ऋग्वेद में भी इसका वर्णन है, एवं 5000 से 10000 वर्षों के कालखंड में भी इसका वर्णन होता रहा है। नारद जी के मन की गति से एक स्थान से दुसरे स्थान पर चले जाने एवं प्रकट हो जाने को उन्होंने विज्ञान के सिद्धांतों के माध्यम से बहुत ही सरल शब्दों में व्याख्या कर पुराण एवं विज्ञान का गठजोड़ भी स्थापित करने का प्रयास किया। उन्होंने कहा कि नारद पुराण एवं संहिता के द्वारा भी भगवत प्राप्ति का मार्ग प्रशस्त होता है। एक पत्रकार के रूप में , संगीतज्ञ से ज्योतिष एवं खगोल शास्त्र तक में सभी में नारद जी का दखल रहा है।

कार्यक्रम के अध्यक्षीय सम्बोधन में बोलते हुए उत्तराखंड के अपर महाधिवक्ता मोहन चंद्र पांडेय ने कहा कि पत्रकारिता एक दक्षता का क्षेत्र है , जिसमे सभी पत्रकार बंधू अपना योगदान दे रहे हैं। दायित्वों से विमुख होने पर शासन -प्रसाशन को आगाह करने का कार्य पत्रकार ही करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  भारत स्काउट एवं गाइड जिला संस्था नैनीताल की योजना बैठक हुई भीमताल में संपन्न

कार्यक्रम में अपने विचार रहते हुए नैनीताल की विधायक सरिता आर्य ने कहा की नारद जी का जीवन सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत रहा है। पत्रकार के माध्यम से समाचार आम जन तक पहुँचते हैं , इसलिए सभी लोगों को संयम के साथ जनता के मध्य समाचार को प्रचारित प्रसारित करना चाहिए। वहीँ सांसद प्रतिनिधि गोपाल रावत ने कहा की धर्म का आचरण के अनुरूप कार्य किया जाना चाहिए , इसलिए नारद जी का चित्रण सही रूप से किया जाना आवश्यक है। साथ ही उन्होंने कहा की नारद जयंती के माध्यम से पत्रकार के प्रति दृष्टिकोण भी बदले जाने की आवश्यकता है।

हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक
हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक

कार्यक्रम के अंत में उपस्थित सभी पत्रकार बंधुओं को नारद जयंती स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया एवं कुमाऊं विश्वविद्यालय के फार्मेसी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ महेंद्र राणा द्वारा धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार रविंद्र पांडेय रवि , अफजल हुसैन फौजी , रमेश चंद्रा , दामोदर लोहानी , गणेश कांडपाल , संतोष बोरा , दीपिका नेगी , गौरव जोशी , सुनील बोरा , पंकज कुमार , दीपक कुमार , कमल बिष्ट , काँटा पाल , गुड्डू ठठोला , आकांशा माडमी , दीप्ति बोरा , हिमानी रौतेला , अलीका सहित राज्य आंदोलनकारी के एल आर्या , जिला मंत्री भाजपा हरीश भट्ट , पूर्व भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोज जोशी , अधिवक्ता उच्च न्यायालय सुयश पंत , धर्मेंद्र शर्मा , डॉ पुरषोत्तम पांडेय , हरीश सिंह राणा, विश्वकेतु वैद्य आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें 👉  खेलो को बढ़ावा देने एवं निरंतर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किए जाने हेतु उत्तरांचल ओलंपिक एसोसिएशन द्वारा कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल के कुलपति प्रो. एन.के. जोशी को किया सम्मानित
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments