उत्तराखंड में 18 सितंबर से शुरू होगी चारधाम यात्रा

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने गुरुवार को ही हटाया है यात्रा से प्रतिबंध

न्यूज़ डेस्क , देहरादून ( nainilive.com )- उत्तराखंड हाईकोर्ट से सशर्त मंजूरी मिलने के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारधाम यात्रा शुरू होने की तारीख की घोषणा कर दी है। मुख्यमंत्री के अनुसार उत्तराखंड में चारधाम यात्रा 18 सितंबर से शुरू होगी। इस दौरान उच्च न्यायालय द्वारा जारी दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा।


उच्च न्यायालय ने गुरुवार को उत्तराखंड में चारधाम यात्रा को सशर्त मंजूरी दे दी थी। अदालत ने राज्य सरकार को कोविड-19 प्रोटोकॉल के सख्त अनुपालन एवं मंदिर में श्रद्धालुओं की निर्धारित दैनिक संख्या जैसे प्रतिबंधों के साथ ही यात्रा संचालित करने का निर्देश दिया था। महाधिवक्ता एसएन बाबुलकर और मुख्य स्थायी अधिवक्ता सीएस रावत सरकार की तरफ से अदालत में पेश हुए थे।


यात्रा पर लगा प्रतिबंध हटाते हुए उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश आरएस चौहान और न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ ने विस्तृत निर्देश दिए थे। चारधाम के नाम से प्रसिद्ध उच्च गढ़वाल हिमालयी क्षेत्रों में स्थित मंदिरों में श्रद्धालुओं की दैनिक सीमा निर्धारित करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि केदारनाथ धाम में प्रतिदिन अधिकतम 800, बदरीनाथ में 1200, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 400 यात्रियों को दर्शन की अनुमति दी जाएगी। इसके अतिरिक्त, यात्रियों को मंदिरों के आसपास स्थित झरनों में स्नान की अनुमति नहीं होगी। अदालत ने कहा कि चमोली, रूद्रप्रयाग और उत्तरकाशी जिलों में चारधाम यात्रा के दौरान जरुरत के अनुसार पुलिस बल तैनात किया जाएगा। चमोली में बदरीनाथ, रूद्रप्रयाग में केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर स्थित हैं.

यह भी पढ़ें 👉  कवि नीरज की स्मृति में उत्तराखंड काव्य महोत्सव का आयोजन, देशभर से जुटे साहित्यकार
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments