यूओयू में पांच दिवसीय ऑनलाइन फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के दुसरे दिन मशीन लर्निंग पर विशेषज्ञों ने दिए महत्वपूर्ण व्याख्यान

यूओयू में 20 जुलाई तक ले सकते हैं ऑनलाइन एडमिशन

यूओयू में 20 जुलाई तक ले सकते हैं ऑनलाइन एडमिशन

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , हल्द्वानी ( nainilive.com ) – उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के कंप्यूटर विज्ञान विद्याशाखा द्वारा अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के सहयोग से पांच दिवसीय ऑनलाइन फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम, एडवांसेज ऑफ़ आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस एंड मशीन लर्निंग इन सोसाईंटीकल डेवलपमेंट के दुसरे दिन के पहले सत्र में डॉक्टर मयंक अग्रवाल गुरुकुल कांगड़ी हरिद्वार के द्वारा सिक्योरिटी मशीन लर्निंग एप्लीकेशन व ब्लॉकचेन पर अपना व्याख्यान दिया उन्होंने मशीन लर्निंग की उपयोगिता बताई और मशीन लर्निंग में किस तरह से सिक्योरिटी होती है इसके बारे में बताया और ब्लॉकचेन में है इसके बारे में बताया कि किस तरह से इसका उपयोग किया जाता है और इन्होंने ब्लॉकचेन को डिफाइन किया और उसके टाइप ऑफ प्लेटफार्म के बारे में डिस्कस किया जो कि सिक्योरिटी ब्लॉकचेन में के लिए बहुत महत्वपूर्ण है ब्लॉक कैसे मदद करता है इसके बारे में डिसकस किया उन्होंने टैक्सनॉमी और ब्लॉकचेन फॉर एआई के बारे में विस्तार से बताया कि ब्लॉकचेन हेल्थकेयर सप्लाई चैन आदि अन्य क्षेत्रों में भी प्रयुक्त होता है|

Ad


दुसरे सत्र में सिंबोसिस यूनिवर्सिटी पुणे की डॉक्टर दर्शना पाठक ने मशीन लर्निंग के बारे में विस्तार से चर्चा की उन्होंने बताया की मशीन लर्निंग को कम्युनिकेशन मैथमेटिक्स स्टैटिसटिक्स तथा बिजनेस वूमेन की मिली जुली तकनीक से समझा जा सकता है सांख्यिकी गणित व अन्य डोमिन की जानकारी को मशीन लर्निंग तकनीक के साथ समझकर एलेक्सा जैसे तकनीक का निर्माण किया जा सकता है मशीन लर्निंग की पूरी प्रोसेस को 7 भागों में विभक्त करके पूरा किया जा सकता है अत्यधिक मात्रा में उपलब्ध डिजिटल डाटा को मशीन लर्निंग उत्पाद में परिवर्तित करके के लिए एल्गोरिथ्म डाटा और भूमि की जानकारी आवश्यक है पांडियन वह आर जे सी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में कई मशीन लर्निंग है फ्रेमवर्क है जो मशीन लर्निंग प्रोडक्ट बनाने में सहायता करते हैं डॉक्टर।

यह भी पढ़ें 👉  डीएम गर्ब्याल ने इन स्थानों में लगाई आदर्श आचार संहिता


तीसरे सत्र में डा. संदीप कुमार सी. ई. ओ. राईट ज़ोन टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा बताया गया कि मशीन लर्निंग छिपी हुई अंतर्दृष्टि को उजागर करने और भविष्य के रुझानों की भविष्यवाणी करने के लिए एक अविश्वसनीय रूप से लाभकारी उपकरण हो सकता है। यह मशीन लर्निंग विद पायथन कोर्स आपको पर्यवेक्षित और अनुपयोगी शिक्षण के साथ आरंभ करने के लिए आवश्यक सभी उपकरण प्रदान करेगा।
कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम के समन्वयक डा. आशुतोष भट्ट द्वारा द्वारा किया गया । विश्वविद्यालय के सहायक प्राध्यापक श्री बालम दफौटी, डा. गोपाल दत्त व सह – आचार्य डा. जीतेंद्र पांडे अन्य सभी प्रतिभागी ऑनलाइन फैकल्टी प्रोग्राम में जुड़े रहे ।

यह भी पढ़ें 👉  केंद्र में भाजपा सरकार के 8 वर्ष पूरे होने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व पटल पर भारत की ख्याति और सम्मान बढ़ाने के साथ-साथ देश में हुआ आमूलचूल कायाकल्प - केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments