नैनीताल में सीजन में पार्किंग समस्या के समाधान को लेकर नैनीताल पोलिस की सराहनीय पहल , क्यूआर कोड स्कैन से मिलेगी पार्किंग की जानकारी

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- नैनीताल में covid महामारी के 2 साल में पर्यटन सीजन बर्बाद होने के बाद अब इस बार अपने फुल रूप से चलने की संभावना है। अधिकाँश होटलों में आगामी ग्रीष्मकालीन पर्यटन सीजन की बुकिंग इत्यादि चालू हो गयी है। ऐसे में नैनीताल आने वाले पर्यटकों के सामने पार्किंग एक बड़ी समस्या रहती है , जिसको देखते हुए आगामी पर्यटन सीजन में आने वाले पर्यटकों को पार्किंग सुविधा की जानकारी देने के लिए पुलिस प्रशासन ने भी कमर कस ली है।

Ad

कुमॉयू परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक डॉ0 नीलेश आनन्द भरणे (आई0पी0एस0) द्वारा बीते 08 अप्रैल को आगामी पर्यटन सीजन के दृष्टिगत पर्यटकों की सुविधा हेतु पार्किंग स्थलों से सम्बन्धित QR CODE सिस्टम का उद्घाटन किया गया। उक्त QR CODE सिस्टम पुलिस उपमहानिरीक्षक , कुमॉयू परिक्षेत्र द्वारा तल्लीताल में स्थित टोल टैक्स बूथ पर स्थापित किया गया है। उक्त बार कोड सिस्टम को श्री विभोर गुप्ता, डॉयरेक्टर विकेन्द्र इनोवेश्न लैब्स प्रा0 लिमिटेड (मोबीक्यूविल) (कम्पनी) द्वारा बनाया गया है तथा इसे बनाने में परिक्षेत्र कार्यालय में नियुक्त कानि0 951 ना0पु0 संजय सिंह रावत व कानि0 ना0पु0 बृजेश यादव द्वारा पुलिस उपमहानिरीक्षक के दिशा निर्देशन में काफी मेहनत की गयी है । उक्त QR CODE नैनीताल की निम्नलिखित मुख्य छः पार्किंग स्थलों को सम्मिलित किया गया है ।
✅ अशोक टाकीज पार्किंग, मल्लीताल
✅ डीएसए पार्किंग मल्लीताल
✅ नियर बी0डी0पाण्डे हॉस्पिटल पार्किग
✅ मेट्रोपोल पार्किंग मल्लीताल
✅ के0एम0वी0एन0 सूखाताल पार्किंग मल्लीताल
✅ नारायणनगर पार्किग नैनीताल

यह मिलेगी सुविधा पर्यटकों को

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं विश्वविद्यालय का 17वां दीक्षांत समारोह हुआ संपन्न, राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) ने 58640 विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधियाँ

इस QR CODE सिस्टम केे लागू होने से पर्यटकों को इस बात की जानकारी आसानी से प्राप्त हो पायेगी कि किस पार्किंग में कितनी गाडियॉ खड़ी हो सकती है और कहॉ पार्किंग हेतु जगह उपलब्ध है । चूंकि नैनीताल में भारी मात्रा में पर्यटकों की आवाजाही रहती है, जिसके मद्देनजर पार्किंग की भारी समस्या रहती है । पर्यटकों को पता नहीं होता है कि पार्किंग स्थल कहॉ-कहॉ हैं तथा उन्हें कहॉ जाना है तथा कौन सी पार्किंग में कितनी क्षमता है। जिस कारण पर्यटक अनावश्यक परेशान होते रहते है उनकी इस समस्या को ध्यान में रखते हुए ही QR CODE सिस्टम लागू किया गया है ।

यह भी पढ़ें 👉  सचिव महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग एचसी सेमवाल ने ली बाल विकास परियोजना एवं कार्यों की समीक्षा बैठक

उक्त QR CODE सिस्टम में यह भी व्यवस्था की गयी है कि जैसे ही एक पार्किंग फुल हो जाएगी तो पर्यटकों को QR CODE स्कैन कराकर दूसरे पार्किंग स्थल पर भेजा जाएगा । जिससे पर्यटकों को अनावश्यक इधर उधर घूमने की आवश्यकता नहीं पडे़गी। उक्त QR CODE सिस्टम के आने वाले एडवांस वर्जन में यह भी सुविधा होगी कि QR CODE स्कैन करते ही पर्यटकों की गाड़ियों की नम्बर प्लेट भी रीड होगी। जिससे शहर में बार-बार अनावश्यक रूप से चक्कर लगा रही गाड़ियों की जानकारी हो पायेगी।

हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक
हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक


उक्त बार कोड सिस्टम के इससे भी एडवांस वर्जन के माध्यम से बार कोड स्कैन करते ही वाहन के मालिक का पूरा पता हमें प्राप्त हो जाएगा जिससे अन्य जनपदों व शहरों से अपराध कर आने वाले व्यक्तियों को आसानी से पकड़ा जा सकेगा। जिससे अपराध नियंत्रण में भी सहायता मिलेगी। आने वाले एडवांस QR CODE सिस्टम से हमें यह भी जानकारी प्राप्त हो सकेगी की कौन से नम्बर की कुल कितनी गाडियॉ शहर के अन्दर प्रवेश हुई है और कितनी बाहर निकल चुकी हैै। उसका डाटा भी पुलिस के पास रहेगा।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं मंडल के बाल कल्याण समिति व किशोर न्याय बोर्ड के प्रतिनिधियों का प्रशिक्षण रहा दूसरे दिन भी जारी
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments