इंडियन स्लिंगशॉट फेडरेशन (भारतीय गुलेल खेल महासंघ) की राष्ट्रीय स्तर की बैठक का हुआ आयोजन

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- इंडियन स्लिंगशॉट फेडरेशन (भारतीय गुलेल खेल महासंघ) की राष्ट्रीय स्तर की बैठक आज दिनांक 20 जून 2021 को आहूत की गई। फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री उमंग गोपाल दावन ने सभी प्रतिभागियों को कोविद काल में भी सजक्ता बनाये रखेने एवं भारतीय खेलों को आगे बढ़ाने हेतु अपनी सुभेच्छा संप्रेषित की। उक्त बैठक में इंडियन स्लिंगशॉट फेडरेशन की महासचिव डॉक्टर लता शर्मा एवं महासंघ के अन्य राष्ट्रीय पदाधिकारियों सहित देश के विभिन्न प्रदेशों के अनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारी भी सम्मिलित हुए।

इस बैठक में महासचिव द्वारा इंडियन स्लिंगशॉट फेडरेशन की प्रस्तावना एवं राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आयोजित किए गए प्रतियोगिताओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने इस भारतीय खेल को प्रमुखता के साथ अन्य प्रदेशों में एवं स्कूल स्तर तक आयोजित कराने जाने की कार्य योजना को विस्तृत रूप से सबके सम्मुख रखा। इस अवसर पर अन्य प्रदेश के पदाधिकारियों द्वारा भी अपने सुझाव को इस बैठक में रखा। महाराष्ट्र के अध्यक्ष, मध्य प्रदेश के अध्यक्ष, छत्तीशगढ़ के अध्यक्ष, राजस्थान के अध्यक्ष एवं उत्तराखंड के अध्यक्ष द्वारा भी अपने अपने सुझाव रखे।

मूल रूप से इस बात पर आम सहमति बनी की अंतरराष्ट्रीय परिदृश्य पर मिल रही इस खेल को पहचान को आगे बढ़ाते हुए प्राचीन काल से ग्रामीण अंचल में स्वतः ही खेले जाने वाले इस खेल को बढ़ावा दिया जाए। विधिवत रूप से एक ढांचागत संरचना के अंतर्गत इस खेल के स्वरूप को प्रचारित एवं प्रसारित किया जाए।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि विभिन्न प्रदेशों के संगठनों को आगामी माह में अपने-अपने संघों को सोसाइटीज रजिस्ट्रेशन एक्ट के अंतर्गत पंजीकृत कराते हुए जिला स्तरीय टीम भी जल्द से जल्द गठित कर ली जानी होगी। साथ ही जिले के स्तर पर एवं प्रदेश के स्तर पर खेल प्रतियोगिताओं को आयोजित कर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भी प्रतिभाग हेतु अपनी अपनी टीम तैयार करनी होंगी। महासचिव डॉक्टर लता शर्मा ने सभी प्रदेशों द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि राष्ट्रीय संगठन द्वारा सभी नए प्रदेशों को मूलभूत ढांचा सुविधा उपलब्ध कराए जाने हेतु वे मदद करेंगी। आने वाले समय में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं को आयोजित किए जाने पर भी उन्होंने सभी के सहयोग का आह्वान किया।

यह भी पढ़ें 👉  चांद, राजीव, मनीष और अफजाल को अनूप गैरोला स्मृति सामाजिक सक्रियता सम्मान

इस अवसर पर कई महत्वपूर्ण सुझाव भी इस बैठक के दौरान प्रादेशिक संगठनों द्वारा रखे गए, जिसमें की टारगेट को किस तरीके से बनाया जाए, उसमें क्या-क्या सुधार की आवश्यकता हो सकती है तथा इस खेल में प्रयोग किये जाने वाले उपकरणों में स्लिंगशॉट तथा उस में प्रयुक्त की जाने वाली निशानेबाजी की गोलियों के स्वरूप एवं पदार्थ के बारे में भी विस्तृत चर्चा हुई।

इस दौरान यह बात सर्वसम्मति से मानी गई कि प्रथम चरण में राष्ट्रीय स्तर पर अपनाई जाने वाली प्रक्रिया को ही प्रदेशिक संगठन द्वारा अंगीकृत कर लिया जाए। भविष्य में आने वाले सभी सुझावों पर सम्यक विचारोपरांत जिला स्तरीय एवं प्रादेशिक स्तरीय प्रतियोगिताओं में सफलतम प्रयोग के उपरांत ही राष्ट्रीय स्तर के प्रतियोगिताओं में ऐसे बदलाव को स्थान दिए जाने पर विचार किया जा सकेगा।

महासचिव द्वारा यह भी कहा गया कि राष्ट्रीय स्तर की एसोसिएशन द्वारा इस खेल की व्यापक कार्य योजना एवं सुदृढ़ ढांचागत सुविधाओं एवं नियमों, उप-नियमों तथा अन्य आवश्यकताओं पर सर्वसम्मति से प्रारूप तैयार की जाने के उपरांत सभी प्रादेशिक संगठनों को यथाशीघ्र उपलब्ध करा दिए जाएंगे। उन्होंने आशा व्यक्त की की सभी प्रादेशिक संगठन अपने स्तर पर इस खेल के प्रचार प्रसार एवं धरातल पर प्रतियोगिताओं को संचालित करने पर आवश्यक जोर देते हुए निरंतरता के साथ आगामी माहों में अवश्य प्रगति करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: रानीखेत एक्सप्रेस का संचालन रहेगा जारी, पढ़िए पूरी खबर

इस अवसर पर खेल जगत के विशिष्ट पहचान रखने वाले कुमाऊँ विश्वविद्यालय के क्रीड़ाधिकारी एवं भारतीय खेल महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ नागेंद्र शर्मा जी द्वारा भी आशा व्यक्त की गई कि भारतीय खेलों को बढ़ावा दिए जाने से ग्रामीण अंचलों में स्वतः ही प्रचलित खेलों को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पटल पर समुचित पहचान दिलाए जाने की प्रक्रिया को बल मिलेगा, साथ ही इस तरह के खेलों को आयोजित करने से खिलाड़ियों में शारीरिक एवं मानसिक संतुलन बनाए रखने में तथा कोविड-19 के दौरान शारीरिक स्फूर्ति बनाए रखने में अमूल्य योगदान दिया जा सकेगा।

बैठक के दौरान उत्तराखंड स्लिंगशॉट एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ महेंद्र राणा द्वारा भी उत्तराखंड राज्य में इस खेल को व्यापक रूप से प्रचारित एवं प्रसारित किए जाने की कार्ययोजना को सबके सम्मुख रखा। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड में विभिन्न जिलों पर जिला स्तरीय समितियों के गठन की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। कोविड-19 में थोड़ी शिथिलता के कारण ही जिला स्तरीय एवं प्रदेश स्तर की गतिविधियों का संचालन में अवरोध उत्पन्न हुआ।

उन्होंने आशा व्यक्त की आने वाले समय में कोविड संक्रमण के मामलों में नियमित रूप से आ रही कमियों एवं वैश्विक पटल से कोविड-19 के संपूर्ण रोकथाम हेतु किए जा रहे हैं प्रयासों को जल्द ही सफलता मिलेगी। नवीन परिदृश्य में पुनः खेल प्रतियोगिताओं को आयोजित किए जाने की अनुमति प्रदेश सरकार एवं राष्ट्रीय सरकार द्वारा प्रदान किए जाने पर प्रतियोगिताओं का संचालन सुनिश्चित किया जा सकेगा।

यह भी पढ़ें 👉  भारत निर्वाचन आयोग ने ली नैनीताल जिले में वीडियो क्रांफ्रेसिंग के माध्यम से चुनाव की तैयारियों की जानकारियां

उन्होंने बैठक में सुझाव दिया कि भारतीय खेलों को बढ़ावा दिए जाने हेतु राष्ट्रीय स्तर पर जो संगठन तैयार किया गया है एवं उस संगठन द्वारा विगत 1 वर्ष से किए जा रहे कार्यों के क्रम में ही बनाई जा रही कार्ययोजनाओं को मूर्त रूप दिए जाने से ग्रामीण अंचलों में प्रचलित कई खेलों को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाई जा सके। साथ ही भारतीय खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखाने का भी उचित अवसर प्राप्त होगा।

बैठक में निम्न लोग उपस्थित थे श्री संपत कोठारी अध्यक्ष राजस्थान स्लिंगशॉट एसोसिएशन, श्री उमेद सिंह राजस्थान स्लिंगशॉट एसोसिएशन, श्री विकास सीकले महाराष्ट्र स्लिंगशॉट एसोसिएशन के अध्यक्ष, श्री सुधीर रंजन रावत छत्तीसगढ़ स्लिंगशॉट एसोसिएशन, श्री आदेश धारीवाल उत्तराखंड स्लिंगशॉट एसोसिएशन, श्री चिन्मया उड़ीसा स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव, डॉक्टर सतीश कर्नाटक स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव, श्री ओपी शर्मा हिमाचल प्रदेश स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव, श्री अमित कुमार दिल्ली स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव, धीरेंद्र मुंडा दादर और नगर हवेली स्लिंगशॉट के सचिव, श्री कार्थिकेयन तमिलनाडु स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव, श्री शरद दास पश्चिम बंगाल स्लिंगशॉट एसोसिएशन के सचिव।

इनके अतिरिक्त उत्तराखंड स्लिंगशॉट एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ महेंद्र राणा, इंडियन स्लिंगशॉट फेडरेशन की महासचिव डॉक्टर लता शर्मा एवं भारतीय खेल महासंघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और कुमाऊँ विश्वविद्यालय के क्रीड़ाधिकारी डॉक्टर नागेंद्र प्रसाद शर्मा द्वारा भी उक्त बैठक में प्रतिभाग करते हुए महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए।

Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments