डी.एस.बी परिसर में कुमाऊं विश्विविद्यालय के प्रथम कुलपति प्रो. डी.डी.पंत तथा वर्गीकरण शास्त्री प्रो.यशपाल पांगती की स्मृति में किया गया पौधरोपण

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com )- डी.एस.बी परिसर नैनीताल में कुमाऊं विश्विविद्यालय के प्रथम कुलपति प्रो. डी.डी.पंत तथा वर्गीकरण शास्त्री प्रो.यशपाल पांगती की स्मृति में पौधरोपण किया गया । कार्यक्रम का आयोजन शोध एवम प्रसार , कुमाऊ विश्विविद्यालय नैनीताल राष्ट्रीय सेवा योजना,कुमाऊं विश्विद्यालय नैनीताल,कुमाऊं विश्विद्यालय शिक्षक संघ (कूटा)नैनीताल, इग्नू डी एस बी परिसर नैनीताल,के द्वारा किया गया।

Ad

कार्यक्रम में प्रो. डी. डी.पंत एवम प्रो.पांगती के कार्यों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी गई। प्रो. एस . एस.सती संकायाध्यक्ष विज्ञान संकाय कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल द्वारा कार्यक्रम में वातावरण के लिए पौधों के महत्व पर प्रकाश डाला ,उन्होंने कहा कि पौधों को रोपित करने के साथ उनके संरक्षण एवम रखरखाव पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है , पौधे मानव जीवन का अभिन्न अंग है , और पौधों और मानव के मध्य उचित समन्वय से बेहतर वातावरण की कल्पना कर सकते है, अगर पौधे संरक्षित है तो हमारा वातावरण भी सुरक्षित होगा और यदि पौधों को संरक्षित नही कर पाए तो वातावरण को भीं संरक्षित नही कर पाएंगे। प्रो.सती ने ये भी कहा की प्रति शोध विद्यार्थी को एक पौधे को गोद लेना चाहिए और ये परंपरा वनस्पति विज्ञान में हमने चला रखी है जिसके परिणाम सकारात्मक है।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाँऊ विश्वविद्यालय नैनीताल के 17वें दीक्षान्त समारोह में ज्योत्स्ना टम्टा को मिली वानिकि विषय में पी0एच0डी0 की उपाधि

कार्यक्रम में प्रो.ललित तिवारी , निदेशक शोध एवम कुमाऊ विश्विद्यालय नैनीताल, डॉ.विजय कुमार, समन्वयक राष्ट्रीय सेवा योजना कुमाऊं विश्विविद्यालय नैनीताल, डॉ.नवीन पांडे, डॉ.मनोज बाफिला, डॉ.हर्ष चौहान,श्री नंदबल्लभ पालीवाल,श्री जगदीश पपर्ने ,वसुंधरा लोधियाल,ज्योति कांडपाल, गीता ओली,संतोष कुमार,गोपाल बिष्ट,कुंदन बिष्ट, इत्यादि उपस्थित रहे। पौधरोपण के लिए पोधें वन क्षेत्राधिकारी श्रीमती ममता चंद द्वारा उपलब्ध करवाए गए।

यह भी पढ़ें 👉  पुलिस एवं फायर ब्रिगेड के जवानों ने बचाई एक व्यक्ति की जान
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments