साइबर ठगों ने तीन के बैंक खातों से ढाई लाख उड़ाए

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , हल्द्वानी ( nainilive.com )- गूगल पर मिले कस्टमर केयर अधिकारी पर भरोसा करना तीन लोगों को महंगा पड़ा। अलग-अलग मामलों में साइबर ठगों ने एक महिला समेत तीन लोगों को झांसा देकर बैंक खाते से ढाई लाख रुपयों पर हाथ साफ कर दिया। इन मामलों की शिकायत पर पुलिस के साइबर सेल ने जांच शुरू कर दी है।

ज्योति जवाहर दमुआढूंगा तल्ला प्लाट हल्द्वानी काठगोदाम निवासी मनोज कुमार ने बीते 12 जून को अपने किसी परिचित को फोन से रुपये ट्रांसफर किए। लेकिन भूल से वह किसी अन्य के खाते में चले गए। इसके बाद पीड़ित ने गूगल से फोन पे कस्टमर केयर अधिकारी का नंबर लिया। कस्टमर केयर अधिकारी ने मदद का झांसा देकर ट्रांजेक्शन की जानकारियां हासिल कर लीं। इसके बाद खाते से 92 हजार 817 रुपए निकाल लिए गए। पीड़ित ने काठगोदाम थाने में तहरीर दी।

यह भी पढ़ें 👉  अधिकारियों की कार्यप्रणाली से क्षुब्ध होकर नैनीताल नगरपालिका के सभासदों ने दिया सामूहिक इस्तीफा

गार्डन हाउस मल्लीताल निवासी बीना साह को बीते 14 जून को एक अज्ञात नंबर से फोन आया। बीएसएनएल कर्मी बताकर केवाईसी अपडेट करने के लिए जानकारी मांगी गई। इस दौरान उनके बैंक खाते का विवरण भी मांगा गया। झांसे में आई महिला ने साइबर ठग से जानकारियां साझा कर दीं। बाद में पता चला कि उसके खाते से 96 हजार 900 रुपए की रकम निकाल ली गई है। महिला ने मल्लीताल कोतवाली में तहरीर दी।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं विश्वविद्यालय के उन्नत भारत अभियान की टीम ने किया गोद लिए गए ग्राम सौड का भ्रमण

अस्वाल पंचवटी कॉलोनी करायल चतुर सिंह आनंदपुर निवासी जंग बहादुर सिंह को 9 जून को एक मोबाइल नंबर से कॉल आया था। खुद को बीएसएनएल का कर्मचारी बताकर केवाईसी अपडेट करने के झांसे में कुछ एप डाउनलोड करा लिए। इसके बाद खाते से ऑनलाइन 59 हजार 900 रुपए की रकम निकल गई। पीड़ित ने कोतवाली में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की।

यह भी पढ़ें 👉  डीएम धीराज गर्ब्याल ने किया भालूगाड़ जल प्रपात में चल रहे सौंदर्यीकरण कार्यों का निरीक्षण
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments