राज्य आंदोलनकारियों के उद्देश्य के अनुरूप आगे बढ़ेगा प्रदेश: मुख्यमंत्री

Ad
Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , देहरादून ( nainilive.com )- मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार को मसूरी में शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र अर्पित कर शहीद राज्य आन्दोलनकारियों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उन्होंने घोषणा की कि राज्य आन्दोलनकारियों का चिन्हीकरण अब 31 दिसम्बर 2021 तक होगा। चिन्हित राज्य आन्दोलनकारी के आश्रितों को भी 3100 रुपए प्रतिमाह पेंशन मिलेगी। राज्य आन्दोलनकारियों को सरकारी सेवा से हटाने के हाईकोर्ट के आदेश पर सरकार पुनर्विचार याचिका दाखिल कर ठोस पैरवी करेगी। उद्योगों में नौकरी के लिए भी उन्हें प्राथमिकता देने के साथ मेडिकल कॉलेजों में भी निःशुल्क इलाज मिलेगा। मसूरी के सिपनकोट के लोगों की पुनर्वास की समस्या का समाधान मसूरी रोपवे का कार्य शुरू होने से पहले होगा। मसूरी में वन टाइम सेटलमेंट लागू होगा। गढ़वाल सभा भवन को यदि अन्यत्र स्थान पर शिफ्ट करना पड़ा तो इसके लिए दूसरी जगह पर व्यवस्था होगी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में भारी बारिश , डीएसबी के केपी गर्ल्स हॉस्टल में हुआ भारी भूस्खलन


इससे पहले मुख्यमंत्री ने श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उत्तराखण्ड राज्य निर्माण के लिए मसूरी गोलीकांड में बेलमती चौहान, हंसा धनई, बलवीर सिंह नेगी, धनपत सिंह, मदन मोहन ममगाईं, राय सिंह बंगारी ने प्राणों की आहुति दी थी। इन आन्दोलनकारियों के बलिदान के कारण ही हमें उत्तराखण्ड नया राज्य मिला। उत्तराखण्ड राज्य आन्दोनकारियों ने जिस उद्देश्य से अलग राज्य की मांग की थी, उसके अनुरूप ही राज्य को आगे बढ़ाया जाएगा। जन समस्याओं का समाधान तेजी से करने के लिए प्रक्रियाओं को आसान बनाते हुए हर स्तर पर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है। सरकार के तीन बिंदुओं सरलीकरण, समाधान और निस्तारण पर अधिकारियों को विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल में आयी आपदा में देवदूत बनकर मदद के लिए सामने आयी भारतीय सेना की डोगरा रेजिमेंट


कार्यक्रम में केंद्रीय पर्यटन एवं रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि शहीद राज्य आन्दोलनकारियों के बलिदान की वजह से ही उत्तराखण्ड राज्य का निर्माण हुआ है। मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर है। प्रधानमंत्री के पद्चिन्हों पर चलकर मुख्यमंत्री धामी राज्य को आगे बढ़ा रहे हैं। कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने भी संबोधन दिया। इस अवसर पर पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला, मसूरी नगर पालिका परिषद् अध्यक्ष अनुज गुप्ता, मसूरी नगर पालिका परिषद् के पूर्व अध्यक्ष मन्नू मल, बलजीत सिंह सोनी एवं राज्य आन्दोलनकारी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखण्ड पूर्ण रूप से पात्र लाभार्थियों को कोविड-19 वैक्सीन की प्रथम डोज लगाये जाने वाला राज्य बना
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments