निर्वाचन में प्रत्याशियों के व्यय का अनुवेक्षण व नियंत्रण को लेकर नैनीताल जिले में हुआ प्रशिक्षण

Share this! (ख़बर साझा करें)

हल्द्वानी (nainilive.com)- लोकतंत्र कमजोर व मजबूत व्यक्ति को बराबर मौका देना है चाहे प्रत्याशी के रूप में हो या मतदाता के रूप में। निर्वाचन में प्रत्याशियों के व्यय का अनुवेक्षण व नियंत्रित करना मुख्य उद्देश्य है। मुख्य कोषाधिकारी /नोडल अधिकारी मास्टर टेªनर व्यय दिनेश राणा ने एकाउन्टस टीम वीएसटी,एसएसटी, एफएसटी, एमसीएमसी टीमो को प्रसार प्रशिक्षण केन्द्र बागजाला गौलापार में प्रशिक्षण देते हुए कही। उन्होने सभी टीमो से कहा कि वे प्रत्याशी के निर्वाचन दौरान व्यय पर पैनी नजर रखेगे, प्रत्याशी द्वारा जो व्यय किया जायेगा उसकी सूचना तुरन्त नोडल अधिकारी एकाउन्ट को देना सुनिश्चित करंेगे।

Ad


श्री राणा ने कहा कि प्रत्याशी के नामांकन दिवस से उसके चुनाव व्ययों को उनके खाते में जोडा जायेगा। प्रत्याशी के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा 30.80 लाख व्यय निर्धारित किया गया है। उन्होने बताया कि प्रत्याशीयों द्वारा निर्वाचन दौरान जो भी रैलियां, पब्लिक बैठक की जायेगी उनकी स्पष्ट वीडियोग्राफी की जाये तांकि रैली व बैठकों में प्रयोग किये गये पंडाल, कुर्सी, मेज, पोस्टर, वैनर, होर्डिग्स, माईक, वाहनों,जलपान आदि की संख्या के आधार पर स्वीकृत रेट लिस्ट के अनुसार प्रत्याशी के निर्वाचन व्यय में जोडा जा सके। उन्होने कहा कि प्रत्याशी द्वारा निर्वाचन में प्रयोग हेतु वाहनों, माईक, लाउडस्पीकर आदि की स्वीकृत लेना अनिवार्य होगा, स्वीकृत की एक प्रति एकाउन्ट टीम को उपलब्ध कराई जायेगी तांकि सभी प्रकार की स्वीकृति के व्यय को प्रत्याशी के खाते में जोडा जा सके। उन्होने बताया सभी प्रकार की प्रचार-सामाग्री में प्रिंट लाईन के साथ ही प्रचार सामाग्री की संख्या का अंकन जरूरी होगा साथ ही पबलिसर से स्वीकृति व बिल रिटर्निग अधिकारी व व्यय टीम को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना होगा।

यह भी पढ़ें 👉  आपदा के दौरान मीडिया की होती है अहम भूमिका- अपर सचिव आपदा प्रबंधन आनन्द श्रीवास्तव


कोषाधिकारी/मास्टर टेªनर व्यय हेम काण्डपाल द्वारा पावर पॉइंट प्रोजेक्ट के माध्यम से सभी टीमो को विस्तृत जानकारियां दी गई। उन्होने बताया कि निर्वाचन दौरान कोई भी व्यक्ति बडी धनराशि लेकर सफर/भ्रमण नही करेगा, अगर धनराशि के साथ सफर कर रहे है तो उसके प्रमाण अवश्य साथ लेकर चले, अन्यथा धनराशि एफएसटी एंव एसएसटी द्वारा चैकिंग दौरान सीज कर दी जायेगी। उन्होने कहा कि बैक प्रबन्धक अपने बैकों के खातों मे लेन-देन पर पैनी नजर रखें, अधिक धनराशि का लेनदेन होने पर आयकर को सूचना अवश्य दी जाए। उन्होने आबकारी टीम को मदिरा बिक्री व अवैध मदिरा पर पैनी नजर रखने को कहा।प्रशिक्षण मंे एफएसटी, एसएसटी, वीएसटी, वीवीटी, एमसीएमसी,एकाउन्टस आदि टीमो के लगभग 300 अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के बेस अस्पताल में दो करोड़ रुपये की लागत से बना ICU वॉर्ड बंद
Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments