अल्मोड़ा में बोले पीएम मोदी – यह दशक उत्तराखंड का दशक है , यह दशक उत्तराखंड के विकास का दशक है

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , अल्मोड़ा ( nainilive.com )- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अल्मोड़ा में एक विशाल चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया। अल्मोड़ा पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने एचएनबी स्टेडियम में विशाल चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तराखंड आकर मुझे बहुत खुशी होती है। मैं यहां के सभी देवी देवताओं को प्रणाम करता हूं।  यहाँ बता दें की बीते आठ साल में अल्मोड़ा में पीएम मोदी की यह दूसरी जनसभा है।

Ad

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अल्मोड़ा में आज साफ तौर पर कहा कि यह दशक उत्तराखंड का दशक है। यह दशक उत्तराखंड के विकास का दशक है। पहाड़ी इलाकों में वैक्सीनेशन पर जमकर काम हुआ। कहा अब उत्तराखंड का सपना पूरा करने का समय है। पीएम ने साफ तौर पर कहा कि कुमाऊं के साथ मेरी यादें जुड़ी हैं। उत्तराखंड के लोग नेक नियत वाले लोग हैं। बीजेपी के लिए खुद जनता चुनाव लड़ रही है। पहले चरण में बीजेपी के लिए अच्छा संकेत है। मतदाता अच्छे कामों को भूले नहीं है। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि – कांग्रेस फूट और लूट की राजनीति करती है। कांग्रेस राज्यों के नाम पर फूट डालती है। हमारा मंत्र सबका साथ सबका विकास है। कुमाऊ के विकास के लिए अभी तक 17000 करोड़ रुपए दिए हैं। उत्तराखंड के निवासियों की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि – उत्तराखंड के लोग ईमानदार और नेक नियत वाले लोग हैं।

अल्मोड़ा में बोले पीएम – मतदाता नहीं भूलते अच्छे काम
पीएम मोदी ने कहा कि जो दृश्य मैंने देखा है, उससे लग रहा है कि मतदाता कभी अच्छे कामों को भूलते नहीं है। और कभी नेक नीयत वालों का साथ नहीं छोड़ते हैं। गुरुवार को उत्तरप्रदेश में जो मतदान हुआ है, उससे साफ लगता है कि भाजपा इस बार भी रिकॉर्ड जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा कि अल्मोड़ा में यह भीड़ देखकर लग रहा है कि इस बार भी भाजपा को जीत मिलेगी। जिन लोगों को उत्तराखंड का फैसला देखना है वह इस जन सैलाब को देखकर पता कर सकते हैं। जनता चाहती है कि उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बने।

यह भी पढ़ें 👉  इस बार भव्य रूप से मनाया जाएगा नंदा देवी महोत्सव , 7 सितम्बर को होगा नगर में डोला भ्रमण

प्रधानमंत्री ने कहा कि बीजेपी सांसद अजय टम्टा ने मुझे बेहद विस्तार से भारतमाला योजना के बारे में समझाया। इसलिए हमारी कोशिश है कि इस योजना को सबसे पहले तैयार कर लिया जाए। उनके अनुसार हमारी चिंता है कि पहाड़ों पर रोजगार कैसे पहुंचे। पहाड़ों में कनेक्टिविटी कैसे पहुंचे कहा। अभी तक लोग कहते थे कि पहाड़ का पानी और पहाड़ की जवानी जो है वह पहाड़ के काम नहीं आती है, लेकिन अब पहाड़ का पानी भी काम आएगा और पहाड़ की जवानी भी काम आएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहाड़ के सीमांतवर्ती स्कूलों में स्पेशल कोर्सेज खोलने की हमारी कोशिश है, वहीं सैकड़ों सैनिक स्कूलों को खोलने का भी हमारा लक्ष्य है। प्रधानमंत्री के अनुसार सीमा के गांव से जो पलायन होता है, उसको रोकने का काम हमारी सरकार कर रही है।

उत्तराखंड के मंदिरों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कुमाऊ को वैसे भी मंदिरों को स्थान कहते हैं। कटारमल सूर्य मंदिर का भी प्रधानमंत्री ने जिक्र किया। कहा , उड़ीसा के सूर्य मंदिर की तरह इसका भी ध्यान दिया होता तो यहां पर भी देश विदेश से लोग आते। प्रधानमंत्री ने साफ तौर पर कहा 10 मार्च को डबल इंजन की सरकार बनने के बाद इस कार्य को और आगे बढ़ाया जाएगा।

प्रधानमंत्री के अनुसार धामी  के नेतृत्व में उत्तराखंड में होमस्टे योजना को आगे बढ़ाया जा रहा है। होम स्टेप पर्यटन और रोजगार बढ़ाने वाला है। उनके अनुसार इससे  हमारी  माताए  बहने स्वावलंबी बनेगी। प्रधानमंत्री के अनुसार कुमाऊ की धरती पंडित नैन सिंह और ईसर सिंह  की धरती  हैं। 10 मार्च के बाद  उत्तराखंड में फिर डबल इंजन की सरकार बनेगी तो काफी हद तक सरकार इनकी सपनों को पूरा कर दी नजर आएगी। प्रधानमंत्री ने कहा इस बार पलायन को पलटने वाला और पर्यटन को बढ़ाने वाला चुनाव है। पीएम ने कहा कि एक तरफ पुष्कर सिंह धामी वाली युवा नेतृत्व वाली सरकार है जो पर्यटन  और रोजगार के विकास के लिए  काम  कर  रहे  हैं दूसरी  तरफ पुरानी मानसिकता वाले लोग हैं।

यह भी पढ़ें 👉  अंतर्राष्ट्रीय चिड़ियाघर के निर्माण का मामला लटका अधर में

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब मैं यहां आता था तो पहाड़ की महिलाएं दूर दूर से पानी ढोकर लाती दिखाई देती थी। बच्चे भी माताओं के साथ पानी लाते दिखाई देते थे। उनके अनुसार पहाड़  के लोगो को पलायन  करना  पड़ रहा था,  अपने खुले  आसमान  को छोड़कर  शहरों  के झुग्गी झोपड़ी में रहने को मजबूर है। प्रधानमंत्री मोदी ने साफ तौर पर कहा कि जल्द ही हम जमरानी बांध बनाने की तैयारी कर रहे हैं। आपके लिए पानी की बिल्कुल भी कमी नहीं होगी। 1- 1 गांव गांव तक पानी का कनेक्शन पहुंचाने का काम हम करेंगे। 60000 करोड़ रुपए हम खर्च करने वाले हैं ताकि मेरी माताओं बहनों को ऐसे दूर दूर तक सर पर पानी उठाने की जरूरत ना पड़े।

उन्होंने कहा कि धामी की सरकार  फिर से आने  के बाद  हर घर को पानी मिलेगा। कुमाऊं वासियों को अपने विशेष अंदाज में कनेक्ट करते हुए उन्होंने कहा कि – उनके अनुसार आपका मोदी दा आपको यह विश्वास दिलाता है। कहा दशकों से कई योजनाएं रुकी पड़ी थी जिसे 2017 के बाद  सरकार  ने कामों को आगे  बढ़ाया  हैं। साथ  ही नदियों को बचाने  के लिए  बसंती  देवी जी ने काम  किया उनको पद्म पुरस्कार दिया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ तौर पर कहा कि हमारी कोशिश है कि उत्तराखंड में भी हर किसी को पक्का घर मिले। उनके अनुसार हमारी कोशिश रहेगी कि जिसको पक्का घर नहीं मिला उसको खोज खोज कर उसको पक्का घर देने का काम हम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने साफ तौर पर कहा कि पहले की सरकार में कुछ भी मिलता था तो पहले कमीशन मांगते थे लेकिन मैं केवल  आशीर्वाद चाहता हूँ। उन्होंने कहा कि आप  कमल पर  जाकर  बटन  दबाते हैं तो आशीर्वाद मुझे  मिल जाता हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उपलब्धि : ग्यारहवीं साउथ एशियन आशियारा कराटे चैंपियनशिप 2022 में रिनीशा लोहनी ने जीता स्वर्ण पदक

प्रधानमंत्री  नरेंद्र  मोदी ने कहा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत हमने मुफ्त राशन देने का भी काम किया है। उनके अनुसार मेरी कोशिश  रही है की गरीब  के घर  में भी  चूल्हा जलता  रहना  चाहिए।   इसलिए  80 करोड़  लोगो के घरों में चूल्हा जलाने का जो काम हम कर रहे  हैं तो मुझे  आशीर्वाद मिलता हैं। प्रधानमंत्री बोले हमारे सपने बड़े हैं , हमारे लक्ष्य बड़े हैं इसलिए हमें कहीं पर भी रुकावट आने नहीं देनी है।

पीएम ने कहा की कई लोग भटकाने वाले घूम रहे हैं लेकिन बाबा नीम  करोली  के आशीर्वाद से इनके मनसूबे  कभी  पुरे नहीं होंगे। कहा अगर  ये आ  गए  तो विकास के कार्यों को रोक देंगे, ऐसे  में आप  क्या इन्हे आने  देंगे। क्या उनके अनुसार ये लोग बिना दलाली  के कुछ  काम  नहीं करेंगे। कहा विपक्षी उत्तराखण्डीयत  की बात  करते  हैं , डराने  की बात  कहते  हैं . उन्होंने कहा कि उत्तराखंड  के लोगो ने डरना नहीं सीखा। जो लोग सीमाओ  पर  गोली से नहीं डरते , उन्हें ये लोग डरपोक  कहते  हैं। इन्हे पता होना चाहिए  ये बहादुर  हैं बहादुर, उनके अनुसार ये सेना का अपमान करते  हैं। जो विपिन रावत  को गुंडा कहते  थे ,अब सैनिकों के हितो की बात  कहने  का ढोग  कर  रहे हैं।

उन्होंने कहा देवभूमि  में यूनिवर्सिटी के नाम  पर  तुष्टिकरण करने  की कोशिश  कर  रहे  हैं। उनके अनुसार उत्तराखंड के विकास में इन्हे बाधक नहीं बनने देना हैं। उन्होंने कहा इतनी बड़ी पार्टी हैं क्यों केवल  दो भाई  बहन के अलावा कोई नहीं आ  रहा हैं। उनकी पार्टी के लोग क्या उत्तराखंड आ  रहे हैं ? उन्हें देश  नहीं परिवार  बचाना  हैं तो उनके पास  जाने की जरूरत  ही क्या हैं। आज  जैसी  धूप  खिले  या ना खिले  लेकिन कमल खिलना  चाहिए।

Ad
Ad
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments