जमरानी बांध सर्वोच्च प्राथमिकता वाला जनहित का प्रोजेक्ट – अजय भट्ट

जमरानी बांध सर्वोच्च प्राथमिकता वाला जनहित का प्रोजेक्ट - अजय भट्ट

जमरानी बांध सर्वोच्च प्राथमिकता वाला जनहित का प्रोजेक्ट - अजय भट्ट

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , हल्द्वानी (nainilive.com) – जामरानी बांध परियोजना के तहत जामरानी बांध का निर्माण राज्य व केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी परियोजना है। यह बात सांसद श्री अजय भटट ने शुक्रवार की देर सांय सर्किट हाउस मे जमरानी बांध निर्माण की प्रगति के सम्बन्ध में समीक्षा करते हुये अधिकारियों से कही। उन्होने कहा कि काफी लम्बे अरसे से लोग जमरानी बांध निर्माण की मांग कर रहे है। तराई व भाबर के लिए जमरानी बांध निर्माण हो जाने से जहां पेयजल की समस्या दूर होगी वही नहरों के जरिये सिचाई के लिए पानी भी बहुतायत से मिल सकेगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 18 सितंबर से शुरू होगी चारधाम यात्रा


श्री भटट ने कहा कि जमरानी बांध सर्वोच्च प्राथमिकता वाला जनहित का प्रोजेक्ट है। उन्होने कहा कि कोविड 19 की दूसरी लहर के प्रकोप के चलते विकास कार्य पटरी से उतर गये हैं। वर्तमान में कोरोना की भयावहता काफी हद तक कम हुई है, कोविड कफ्र्यू मे ढील बढने के कारण गतिविधियां सामान्य होती जा रही है। ऐसे में इस प्रोजेक्ट को गति देने तथा धरातल पर उतारने के लिए पूरी ऊर्जा एवं तत्परता के साथ जूटने की जरूरत है। उन्होने कहा कि जमरानी बांध परियोजना का मुख्य उददेश्य जल संवर्धन कर हल्द्वानी क्षेत्र की जलापूर्ति तथा तराई भाबर एवं उत्तर प्रदेश क्षेत्र में सिचाई उपलब्ध कराना तथा विद्युत उत्पादन करना है। इसलिए परियोजना कार्यो पर शीघ्रता से कार्य किया जाए।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद : तेदुएं ने वृद्ध महिला को बनाया शिकार


उन्होेने बांध प्रभावित क्षेत्रों मे सर्वे की गति तेज करने के निर्देश महाप्रबन्धक जमरानी बांध परियोजना प्रशान्त बिश्नोई को दिये। उन्होने कहा कि वे प्रभावित क्षेत्रवासियों से दोतरफा संवाद कायम कर लोगों को एक्ट के अनुसार पुनर्वास व पुर्नविस्थापन के सम्बन्ध मे पूर्ण जानकारियां देें। श्री भटट ने कहा कि लारा एक्ट के अनुसार क्षेत्रवासियो को पूर्ण सुविधायें दी जायेगी। किसी भी प्रभावित व्यक्ति को नुकसान नही होने दिया जायेगा। बैठक मे अपर जिलाधिकारी नजूल जगदीश चन्द काण्डपाल ने बताया कि जामरानी बांध के लोगो को विस्थापित करने के लिए सितारंगज जेल परिसर के अलावा दियो हरि मे 52.85 एकड, खटीमा तहसील के ग्राम उलाहनी मे 120.07 एकड, सितारगंज तहसील के ग्राम लालरखास, कल्याणपुरी बरा में 247.09 एकड, लालरपटटी में 37.57 एकड भूमि कुल 457.58 एकड भूमि चयनित की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  डीएसबी परिसर कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल में वाणिज्य विषय की प्री पीएचडी कोर्स वर्क की परीक्षा हुई सम्पूर्ण


बैठक में विधायक नवीन चन्द्र दुम्का, रामसिह कैडा, आयुक्त कुमायू मण्डल अरविन्द सिह हृयांकी, जिलाधिकारी धीराज सिह गर्ब्याल ,प्रभागीय वनाधिकारी टीआर बीजूलाल,भूमि आधिपत्य अधिकारी एनएस नबियाल, जेल सुप्रीटेंडेट सितारगंज अशोक कुमार,अधिशासी अभियन्ता जमरानी बीबी पाण्डे,ललित कुमार,प्रोजेक्ट मैनेजर जमरानी संजय कुमार सिह, साह नवाज आदि उपस्थित थे।

नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments