प्रकृति और मनुष्यता के मध्य एकता का प्रतीक है योग : डॉ. मठपाल

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com ) – शहीद खेमचंद्र डौर्बी राजकीय महाविद्यालय बेतालघाट में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर योग सत्र का आयोजन किया गया l योग सत्र का संचालन करते हुए योग कार्यक्रम के संयोजक डॉ. भुवन मठपाल ने बताया कि सितम्बर 2014 में सयुंक्त राष्ट्र महासभा में भारत के प्रधानमंत्री द्वारा रखे गए प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए 21 जून 2015 को प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया था l


उन्होंने कहा की 21 जून को ही योग दिवस मनाने के पीछे कारण यह भी था कि इस दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लम्बा दिन होता है l साल के इस दिन सूर्य की किरणें सबसे जायदा देर तक धरती पर रहती हैं l जिसको प्रतीकात्मक रूप से मनुष्य के स्वास्थ और जीवन से जोड़ा जाता है l जिसका कुशल संचालन हमारे वैदिक ऋषि-मुनियों ने किया l योग के आचार्य महर्षि पतञ्जलि ने योग सूत्रवृत्ति में चित्त और वृत्ति के मध्य संतुलन को ही योग कहा है l योग सत्र में सूर्य नमस्कार, पद्मासन, सर्वांगासन, शीर्षासन, हलासन समेत कई आसन किए गए l मानवता के लिए योग के थीम पर प्राणी समुदाय के स्वस्थ और सुखी की कामना की गई l

Ad
Ad

इस अवसर पर डॉ. दीपक, डॉ. तरुण कुमार, डॉ गरिमा पांडेय, वरिष्ठ सहायक श्री दिनेश कुमार जोशी, श्री मुकेश रावत, ललितकुमार, श्रीमती प्रेमा समेत कई छात्र-छात्राओं ने योग आसान और प्राणायाम किए l

हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक
हिमान आयुर्वेदा क्लिनिक
Ad
Ad
यह भी पढ़ें 👉  उपलब्धि : ग्यारहवीं साउथ एशियन आशियारा कराटे चैंपियनशिप 2022 में रिनीशा लोहनी ने जीता स्वर्ण पदक
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments