मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने सभी परीक्षाओं को स्थगित करने के दिए निर्देश

Advertisement
Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क ( nainilive.com ) – उत्तराखंड में बढ़ते कोरोना प्रकोप को देखते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बड़ा फैसला लेते हुए सभी परीक्षाओं को स्थगित करने के निर्देश दिए है। कोरोना वायरस के विषय पर शुक्रवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने निर्देश दिये कि  कोविड प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित कराया जाए। जो लोग मास्क सही तरीके से नहीं पहन रहे हैं और सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन कर रहे हैं, उन पर सख्त कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने प्रदेश ने कहा कि परीक्षाओं को स्थगित किया जाए और कॉलेजों में केवल ऑनलाइन क्लासेज की अनुमति दी जाए। 

Advertisement

त्रिफला के फायदे :- त्रिफला है महाऔषधि I त्रिफला के फायदे I Trifala benefits in Hindi I Dr. Himani Pandey I https://youtu.be/BX0NbJ4suac

यह भी पढ़ें 👉  आज से जिले में भारी बारिश की संभावना

मुँहासे कैसे पाए छुटकारा – जाने मुंहासे ( Pimples ) के कारण , आयुर्वेदिक चिकित्सा practical tips के साथ https://youtu.be/WGEbUs98lBE

जाने हल्दी सेवन के फायदे – हल्दी ( Turmeric ) है गुणकारी – पर ज्यादा मात्रा में सेवन से हो सकती है परेशानी I हल्दी के फायदे https://youtu.be/587nsmpGmus

मुख्यमंत्री ने कहा कि जागरूकता पर सबसे अधिक जोर दिया जाए। टेस्टिंग की संख्या बढाई जाए और वैक्सीनैशन अभियान में भी तेजी लाई जाए। कड़ाई भी और दवाई भी, पर काम करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन की प्रभावी रणनीति बनाई जाए। होम आईसोलेशन वालों को जरूरी किट दी जाए और उनसे लगातार सम्पर्क रखा जाए। कोविड केयर सेंटरों को मजबूत किया जाए।  कंट्रोल रूम का प्रभावी संचालन हो। वहां प्रशिक्षित अधिकारी और कार्मिक तैनात किये जाएं। 

यह भी पढ़ें : खूनी संघर्ष के मामले में तल्लीताल पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ किया मुकदमा दर्ज

यह भी पढ़ें 👉  कारगिल विजय दिवस पर वीर जवानों को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए उनकी शहादत को किया याद

यह भी पढ़ें : एक तरफ जंगल में लगी भीषण आग तो दूसरी तरफ भूसे से भरे मिनिट्रक ट्रक पर अचानक लग गई आग

यह भी पढ़ें : नैनीताल जिला न्यायालय परिसर में अधिवक्ताओं का होगा रैपिड टेस्ट

यह भी पढ़ें : नैनीताल में बीते दिन हुई घटना का एसएसपी ने घटनास्थल पहुँचकर किया निरीक्षण

यह भी पढ़ें : खूनी संघर्ष के मामले में नामजद 2 अभियुक्तों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

यह भी पढ़ें : पाषाण देवी मंदिर में हुई चोरी पुलिस ने किया चोरों को गिरफ्तार

मुख्यमंत्री ने कहा कि मृत्यु दर को कम करने के लिये यह सुनिश्चित किया जाए कि संक्रमित व्यक्ति को समय पर इलाज मिले। कान्टेक्ट ट्रेसिंग बहुत जरूरी है। कंटेन्मेंट जोन में पूरी सख्ती रखी जाए।  मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि पिछली बार  फ्रंटलाइन वर्कर्स ने बहुत अच्छा काम किया था। इस बार भी उसी जज्बे के साथ हमें संक्रमण को रोकना है। सीमा पर चैकिंग की जाए। आरटीपीसीआर टेस्ट का अनुपात बढ़ाया जाए। 

यह भी पढ़ें 👉  आज से भोलेनाथ के श्रावणमास की शुरुआत, इन राशि वालों पर रहेगी विशेष कृपा

सचिव अमित नेगी ने कहा कि वर्तमान में हमारे पास आईसीयू बेड, वैंटीलेटर, आक्सीजन सपोर्ट बेड पर्याप्त हैं। हमें इन सुविधाओं को और बढाना है।पैनिक होने की आवश्यकता नहीं है परंतु पूरी गम्भीरता से काम करना है। किसी भी तरह की शिथिलता न रहे।   प्रभारी सचिव डॉ पंकज पाण्डेय ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जिलावार सारी स्थिति की जानकारी दी।  बैठक में डीजीपी अशोक कुमार, सचिव नितेश झा, डीजी हेल्थ तृप्ति बहुगुणा, सहित शासन के वरिष्ठ अधिकारी और वीडियो कांफ्रेंसिग द्वारा सभी जिलाधिकारी उपस्थित थे। 

Advertisement
नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page