viral video : करने चले थे भलाई , लेकिन डीएम साहेब को मांगनी पड़ गयी माफ़ी

viral video : करने चले थे भलाई , लेकिन डीएम साहेब को मांगनी पड़ गयी माफ़ी

viral video : करने चले थे भलाई , लेकिन डीएम साहेब को मांगनी पड़ गयी माफ़ी

Share this! (ख़बर साझा करें)

न्यूज़ डेस्क , नैनीताल ( nainilive.com ) – यह वायरल वीडियो त्रिपुरा के वेस्ट अगरतला क्षेत्र के डीएम डॉ शैलेश कुमार यादव का है , जो आज दोपहर से सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में डीएम साहेब ने वेस्ट त्रिपुरा में जारी नाईट कर्फ्यू के दौरान भी 2 मैरिज हालों में शादी चालु होने को लेकर उनको सील कर दिया। हालांकि डीएम साहेब का इरादा तो नेक था , लेकिन जिस नेक इरादे के साथ वह कार्यवाही करने निकले , उसने उनके वीडियो को वायरल कर दिया।

त्रिफला के फायदे :- त्रिफला है महाऔषधि I त्रिफला के फायदे I Trifala benefits in Hindi I Dr. Himani Pandey I https://youtu.be/BX0NbJ4suac

मुँहासे कैसे पाए छुटकारा – जाने मुंहासे ( Pimples ) के कारण , आयुर्वेदिक चिकित्सा practical tips के साथ https://youtu.be/WGEbUs98lBE

इस वीडियो में डीएम डॉ शैलेश कुमार यादव ने वेस्ट अगरतला में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नाईट कर्फ्यू लगाया था, लेकिन फिर भी कई बैंक्वेट हॉल में विवाह कार्यक्रम चल रहे थे। इसी सूचना के आधार पर जब डीएम ने छापा मारा तो वहां खबर में सत्यता पाई गयी। इसी बात को लेकर उनका पारा चढ़ गया , और उन्होंने सरकारी कार्य में बाधा डालने के जुर्म में 30 लोगों को गिरफ्तार कर दिया , जिनको बाद में छोड़ दिया गया। वहीँ दो बैंक्वेट हॉल को 1 वर्ष के लिए बंद करने के आदेश दे दिए। वहीँ डीएम साहेब का पारा इस कदर गर्म था की उन्होंने महामारी एक्ट के अंतर्गत वहां उपस्थित सभी मेहमानों एवं वर वधु को भी अरेस्ट करने के आर्डर दे दिए। इसके साथ ही डीएम ने स्थानीय पुलिस पर भी सहयोग नहीं करने का आरोप लगाते हुए राज्य सरकार से ईस्ट अगरतला पुलिस स्टेशन में तैनात पुलिस अधिकारी को भी निलंबित करने की मांग की। हालांकि वीडियो में दिख रहा है की डीएम साहेब से विवाह में उपस्थित मेहमानों ने अनुमति पात्र होने की बात कही जिसे डीएम साहेब ने फाड़ दिया। वहीँ जब कुछ लोगों ने उनसे बात करने की कोशिश की , तो उनका गुस्सा इस कदर हावी था , की उन्होंने न सिर्फ पंडित , दूल्हे और कुछ मेहमानों को धक्के देकर और दुर्व्यवहार के साथ धकेला , बल्कि महिलाओं से भी बात सही से नहीं करते दिखे। हालांकि बाद में एक मीडियाकर्मी के सवाल पर उन्होंने अपनी नेक नियति को सही ठहराते हुए पूरी घटना को कोरोना की भयावहता को देखते हुए बचाव करने की कोशिश की और कहा की जब शिक्षित लोग ही इस तरह का व्यवहार करेंगे तो फिर आगे क्या होगा।

जाने हल्दी सेवन के फायदे – हल्दी ( Turmeric ) है गुणकारी – पर ज्यादा मात्रा में सेवन से हो सकती है परेशानी I हल्दी के फायदे https://youtu.be/587nsmpGmus

यह भी पढ़ें : राज्य कैबिनेट की बैठक में लिए गए कई महत्वपूर्ण निर्णय , 18 से 45 वर्ष आयुवर्ग के सभी लोगों को लगेगा निशुल्क टीका

इन सब के बीच इस मुद्दे ने त्रिपुरा में जोर पकड़ लिया है। सत्ताधारी दल भाजपा सहित विपक्षी पार्टी सीपीआई एम् ने इस घटना की पुरजोर निंदा की हैं। मुख्यमंत्री विप्लब कुमार देव ने मुख्या सचिव मनोज कुमार को तुरंत घटना की जांच करते हुए विस्तृत जांच रिपोर्ट तुरंत देने को कहा है। नेता प्रतिपक्ष और सीपीआई एम् नेता माणिक सरकार ने इस घटना की निंदा करते हुए कहा की इस कार्यवाही की कोई जरुरत नहीं थी। वेस्ट त्रिपुरा से सांसद प्रतिमा भौमिक ने घटना की निंदा करते हुए कहा की इस तरह की कार्यवाही की कोई जरुरत नहीं थी। उन्होंने कहा की वह वधु पक्ष के परिवार से मिलकर घटना की जानकारी लेंगी। उन्होंने कहा की प्रशासन का कार्य कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकना है , लेकिन इस तरह की घटना और कार्यवाही की जरुरत नहीं थी।

यह भी पढ़ें :उत्तराखंड सरकार एवं महानिदेशक सूचना ने की कोरोना संक्रमित पत्रकारों हेतु बड़ी पहल

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड कोरोना अपडेट : आज फिर कोरोना 5 हजार के पार

यह भी पढ़ें : ऑक्सीजन सिलिंडर एवं दवाओं की कालाबाजारी रूकने को लेकर नैनीताल जिला प्रशासन ने की बड़ी कार्यवाही

वहीँ सत्ताधारी दल भाजपा के विधायक सुदीप रॉय बर्मन , आशीष कुमार साहा , सुशांता चौधरी ने मुख्य सचिव मनोज कुमार को पत्र लिखकर उनको हटाने की मांग की है। हालांकि इन सब के बीच अब डीएम साहेब को अपने किये पर अफ़सोस भी हो रहा है और उन्होंने अपने किये पर माफ़ी भी मांग ली है। उन्होंने मीडिया के सामने कहा की मेरा मकसद किसी की भावनाओं को आहत करना या किसी को ठेश पहुंचाना नहीं था , बल्कि जिले में तेजी से फ़ैल रहे कोरोना संक्रमण को रोकना था। बहरहाल जो भी हो, डीएम साहेब का जो भी मकसद हो , लेकिन मीडिया में यह वीडियो खूब वायरल हो गया है।

यह भी पढ़ें : नैनीताल जिले को मिली शासन द्वारा रेमडेसिविर की पहली खेप

यह भी पढ़ें : उत्तराखण्ड पुलिस ने अपने जवानों की ‘सेफ्टी’ के लिए बनाए अपने ‘कोविड केयर सेंटर’

नैनी लाइव (Naini Live) के साथ सोशल मीडिया में जुड़ कर नवीन ताज़ा समाचारों को प्राप्त करें। समाचार प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़ें -

👉 Join our WhatsApp Group

👉 Subscribe our YouTube Channel

👉 Like our Facebook Page

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments